हल्द्वानी- मानद उपाधि से सम्मानित होंगे जागर सम्राट प्रीतम भरतवाण, यहां दिया जायेगा सम्मान

0
260

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क- उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय 27 नवंबर को गढ़वाली जागर सम्राट प्रीतम भरतवाण को मानद उपाधि से सम्मानित करेंगी। यह उपाधि उन्हें राज्यपाल बेबी रानी मौर्या द्वारा प्रदान की जायेगी। इसके अलावा कई पीएचडी धारकों को भी सम्मानित किया जायेगा। बता दें कि आगामी 27 नवंबर को उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय का दीक्षांत समारोह का आयोजन किया जायेगा। उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय का यह चौथा दीक्षांत समारोह होगा। इस समारोह में पहली बार पीएचडी डिग्री धारकों को शामिल किया जायेगा। उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय देश का पहला डिजिटल विश्वविद्यालय हैं। जहां सारे काम जैसे प्रवेश लेना, अडमिड कार्ड, रिजल्ट्स एवं अन्य वीडियो लेक्चर ऑनलाइन के माध्यम से छात्र घर बैठे कर सकते हैं जो दुरस्त ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले एवं दूर नौकरी करने वाले छात्रों के लिए बेहतर साबित हो रहा हैं और इस विश्वविद्यालय में परम्परागत पाठ्यक्रम के साथ आधुनिक रोजगारपरक पाठ्यक्रम भी शामिल हैं।

अमेरिका में बिखेरा अपनी आवाज का जादू

गढ़वाली जागर सम्राट प्रीतम भरतवाण ने विदेश में उत्तराखंडी लोक संस्कृति की लोकप्रियता बढ़ाया है। पिछले बार अमेरिका में भी उन्होंने अपनी आवाज का जादू बिखेरा। आज के दौर में समूचा उत्तराखंड उन्हें जानता है। उत्तराखंड की जागर कला को एक नया रूप और नया कलेवर देने में प्रीतम भरतवाण का ही हाथ रहा है। आज प्रीतम भरतवाण अपनी जागरी के दम पर देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी लोकप्रिय हैं। हाल ही में अमेरिका के सिनसिनाटी के छात्रों और शोधकर्ताओं को प्रीतम भरतवाण ने ढोल और दमाऊं से भी परिचित करवाया था। जागर सम्राट कहे जाने वाले प्रीतम भरतवाण हाल ही में एक बेहतरीन जागर लेकर आए थे।

अमेरिकन छात्रों में सीखने की रुचि

अमेरिका में प्रवासी भारतीय भी अपनी संस्कृति के प्रति खासे जागरूक हैं। ढोल, दमौ, जागर आदि वाद्य-यंत्रों पर शोध कर रहे छात्रों का उन्होंने मार्गदर्शन किया। उन्होंने बताया कि अमेरिकन यूनिवर्सिटी के छात्रों में सीखने की जबरदस्त रुचि और क्षमता है। कई छात्रों ने भविष्य में उत्तराखंड आने की इच्छा भी जताई। इस बार उत्तराखंड मुक्त विवि उन्हें मानद उपाधि से सम्मानित करेंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here