drishti haldwani

हल्द्वानी- इंदिरा की जुबान सुन पूर्व मु्ख्यमंत्री हरीश रावत की खिसक जाएगी पैरो तले जमीन, ऐसे तमतमाई गुस्से में

180

हल्द्वानी- न्यूज टुडे नेटवर्क: लोकसभा चुनाव का परिणाम आने से पहले ही उत्तराखंड में कांग्रेस पार्टी के बड़े-बड़े नेता आमने-सामने आ गए है। हल्द्वानी में नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के महासचिव हरीश रावत को दलित युवक की हत्या के विरोध में उपवास कार्यक्रम किए जाने के बाद आड़े हाथों लिया है। कांग्रेस महासचिव हरीश रावत को नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश से नसीहत दी है कि वे कोई भी कार्यक्रम करें तो पार्टी संगठन को साथ में लेकर चलें। इंदिरा ने यह बयान आज हरीश रावत के 1 घण्टे के उपवास कार्यक्रम के ऊपर दिया है।

iimt haldwani

कोई भी कार्यक्रम पार्टी संगठन से बड़ा नहीं

इस दौरान नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने दो टूक शब्दों में कह दिया की कोई भी पार्टी संगठन से बड़ा नही है, और ना ही किसी को राजनीतिक मर्यादाओं को पार करना चाहिए, क्योंकि प्रदेश में पार्टी अध्यक्ष सबसे बड़े हैं। उनकी रायशुमारी किसी भी कार्यक्रम के लिए जरूरी है। उन्होंने कहा की अब हम राजनीति के अंतिम पड़ाव की ओर हैं। लिहाज़ा इस तरह की चीजें शोभा नही देती, क्योंकि पार्टी में हर काम सिस्टम से होता है, ऐसा इसलिए भी है क्योंकि जब हरीश रावत मुख्यमंत्री थे तो वे भी उनकी रायशुमारी के बिना कोई काम आगे नहीं करती थी।