PMS Group Venture haldwani

नई दिल्ली- पुलवामा हमले के बाद सरकार ने लिया ये बड़ा एक्शन, जेटली बोले पाकिस्तान का सीधा हाथ

122
Slider

नई दिल्ली- न्यूज टुडे नेटवर्क: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार को हुए आतंकी हमले के मद्देनजर शुक्रवार सुबह सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमिटी की बेहद अहम बैठक खत्म हो चुकी है। इस बैठक के संबंध में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन ब्रीफिंग दे रही हैं। जम्मू-कश्मीर में हुए अब तक के सबसे बड़े आतंकी हमले में पुलवामा में सीआरपीएफ के 38 जवान शहीद हुए हैं। प्रधानमंत्री कार्यलय में होने वाली इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा, रक्षा मंत्री, गृह मंत्री और विदेश मंत्री शामिल हुए। साथ ही इस अहम बैठक में एनएसए और एनएससी के सदस्यों ने भी हिस्सा लिया।

Slider

बता दें कि गुरुवार शाम से ही दिल्ली से लेकर जम्मू-कश्मीर हर जगह लगातार बैठकों का दौर चल रहा है। सूत्रों के मुताबिक दिल्ली में सीआरपीएफ के डीजी राजीव राय भटनागर और गृह मंत्री राजनाथ सिंह के बीच करीब 20 मिनट तक बैठक चली। राजीव राय ने सीआरपीएफ वॉर रूम में मौजूद आला अधिकारियों से रिपोर्ट ली और उसके बाद गृह मंत्री को सारी जानकारी दी।

Shree Guru Ratn Kendra haldwani

वापस लिया मोस्‍ट फेवर्ड नेशन का दर्जा

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार को इस साल के सबसे बड़े आतंकी हमले को लेकर प्रधानमंत्री आवास पर कैबिनेट कमेटी ऑन सिक्योरिटी (CCS)की अहम बैठक में कई बड़े कदम उठाने पर चर्चा की गई। बैठक की जानकारी देते हुए अरुण जेटली ने बताया कि पाकिस्‍तान से मोस्‍ट फेवर्ड नेशन का दर्जा वापस ले लिया गया है। उन्‍होंने कहा कि पुलवामा आतंकी हमले में पाकिस्‍तान का सीधा हाथ है। पाकिस्‍तान को दुनिया से अलग-थलग करने की हमारी पूरी कोशिश होगी। जानकारी मुताबिक अरुण जेटली ने बताया कि बैठक में चर्चा हुई है कि विदेश मंत्रालय इस मसले को दुनिया के सामने प्रमुखता से रखेगा। विदेश मंत्रालय इस हमले को लेकर सभी तरह की कूटनीतिक कदम उठाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुलवामा में मारे गए आतंकियों के प्रति शोक व्‍यक्‍त किया। उन्‍होंने कहा कि आज देश का खून खौल रहा है। इसके लिए दोषियों को बड़ी कीमत चुकानी होगी। प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि हमने सुरक्षाबलों को पूरी छूट दे दी है। मैं देश को भरोसा देता हूं आतंकियों को छोडूंगा नहीं। उन्‍होंने कहा कि आतंकियों ने बहुत बड़ी गलती कर दी है। हम पड़ोसी देश के मंसूबों को कभी भी पूरा नहीं होने देंगे।

एनआईए की टीम पहुंचेगी पुलवामा

वही हादसे की जांच के लिए शुक्रवार को एनआईए की टीम भी पुलवामा जाएगी। इस टीम में 12 सदस्य होंगे जिसका नेतृत्व आईजी रैंक के अधिकारी करेंगे। इसके अलावा केंद्रीय गृह मंत्री भी घटनास्थल पर जा सकते हैं। न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर के गवर्नर सत्यपाल मलिक भी शुक्रवार को जम्मू से श्रीनगर जाएंगे।