inspace haldwani
Home उत्तरप्रदेश किसान आंदोलन में मृत युवक के शव को तिरंगे में लपेटकर ले...

किसान आंदोलन में मृत युवक के शव को तिरंगे में लपेटकर ले गए थे अंत्येष्टि स्थल, राष्ट्रीय कानून के तहत ये हुई कार्रवाई

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। किसान आंदोलन में डेड बाडी मिलने के बाद अंतिम संस्‍कार के लिए शव को तिरंगे में लपेटकर ले जाने पर एक किसान परिवार पर राष्‍ट्रीय ध्‍वज के अपमान का मामला दर्ज किया गया है। प्रकरण यूपी के पीलीभीत जिले का है। पीलीभीत के पूरनपुर तहसील का एक किसान युवक किसान आंदोलन में शामिल होने के लिए गाजीपुर बार्डर गया था। जहां अगले दिन किसान की बाडी संदिग्‍ध हालात में मिली थी। जिसके बाद किसान की मौत की खबर आई।

बुद्धवार को युवक के शव का अंतिम संस्‍कार किया जाना था। बताया जा रहा है कि युवक के शव को राष्‍ट्रीय ध्‍वज में लपेटकर कर अंत्‍येष्टि स्‍थल तक ले जाया गया था। यह युवक खेती करता था और कृषि कानूनों के खिलाफ गाजीपुर बॉर्डर पर चल रहे धरने में शामिल होने गया था। वहां उसकी डेड बॉडी मिली थी।

मृत किसान युवक
मृत किसान युवक बलजिन्‍दर सिंह

मामला संज्ञान में आने के बाद पुलिस ने इस मामले में युवक की मां और भाई के खिलाफ केस दर्ज किया है। सेहरामऊ के गांव बारी बुझिया के रहने वाले भजन सिंह का 30 साल का बेटा बलजिंद्र अपने साथियों के साथ 23 जनवरी को किसान आंदोलन में शामिल होने गया था। परिवार से उसकी आखिरी बार 24 जनवरी को बात हुई थी। तब वह गाजीपुर बॉर्डर पर ही था। इसके बाद उससे संपर्क नहीं हुआ। परिवार वालों ने उसके साथ गए लोगों से बात की तो पता चला कि बलजिंदर लापता है।

इसकी सूचना गाजीपुर थाने में दी गई। पुलिस ने बलजिंद्र के मोबाइल नंबर को ट्रेस किया तो वह कूड़ा बीनने वाले के पास निकला। गाजीपुर पुलिस ने जानकारी जुटाई तो पता चला कि 25 जनवरी को गाजीपुर बार्डर से कुछ दूर बलजिंदर आखिरी बार दिखाई दिया था।

लोगों ने बताया कि वह लड़खड़ा रहा था। लग रहा था कि वह नशे में है। कुछ देर के बाद बलजिंद्र का शव सड़क पर पड़ा मिला। शव के आसपास बड़े-बड़े टायरों के निशान भी मिले थे। इसके बाद परिवार वालों को शिनाख्त के लिए गाजीपुर बुलाया गया। बुधवार को शव का पैतृक गांव में अंतिम संस्कार किया गया।

इस मामले में सेहरामऊ थाना प्रभारी आशुतोष रघुवंशी ने रिपोर्ट दर्ज कराई है। उन्होंने बताया कि मैं सिपाहियों के साथ मौके पर मौजूद था। बलजिंद्र की मौत हादसे में हुई थी। इसकी FIR भी गाजियाबाद के गाजीपुर थाने में दर्ज है। इसकी कॉपी परिवार को सौंपी गई थी।

अंतिम संस्कार से पहले किसान के भाई गुरविंदर और मां जसबीर कौर ने शव के ऊपर तिरंगा रख दिया। कानून के तहत ऐसा करना जुर्म है। फ्लैग कोड ऑफ इंडिया के तहत देश के लिए जान देने वाले शहीदों और महान विभूतियों के शव को ही तिरंगे में लपेटा जाता है। ऐसा करने के भी नियम तय हैं।

Related News

पीलीभीत के चिरौंजीलाल वीरेन्द्र पाल इंटर कालेज में नारायण कालेज ने छात्रों को बेहतर कैरियर बनाने के दिए टिप्स

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। नारायण कालेज बरेली ने छात्रों को बेहतर कैरियर बनाने के टिप्‍स दिए। विशेषज्ञों ने छात्रों को बताया कि कैसे जीवन में...

वाराणसी: चारों पीठों के शंकराचार्यों समेत देश भर के 300 साधु धर्मसंसद में रहेंगे मौजूद

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। वाराणसी में होने वाली धर्म संसद में चारों पीठों के शंकराचार्यों के साथ साथ देश भर से करीब तीन सौ साधु...

यूपी: गाजीपुर के चार युवकों ने उठाया गांवों से पलायन रोकने का बीड़ा, भारत भ्रमण कर देंगे ये संदेश…

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। गांवों से शहरों की ओर पलायन को रोकने के लिए यूपी के चार युवकों ने बीड़ा उठाया है। ये चारों युवक...

देवरिया: बेकाबू ट्रक ने बाइक सवारों को कुचला, एक की मौत, दो की हालत नाजुक

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी में एक बेकाबू ट्रक ने बाइक सवार तीन युवकों को कुचल डाला। दर्दनाक हादसे में बाइक सवार एक युवक की...

लखनऊ: विदेश में मिलेगी नौकरी ,ऐसा बोलकर बेराजगारों के 20 करोड़ रूपए खा गई कंपनी, फिर दफ़्तर पर लगा दिया ताला

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। कंसल्‍टेंट कंपनी ने विदेश में नौकरी का झांसा दिखाकर बेरोजगारों से करोड़ों रूपए ऐंठ लिए और दफ़्तर बंद कर फरार हो...

बरेली: महिला दिवस पर शोहदे की पिटाई, फोटो खीचनें को लेकर हुआ विवाद

न्‍यूज टुडे नेटवर्क, बरेली। हाफिजगंज थाना क्षेत्र में महिला दिवस पर एक युवक को महिला से छेड़छाड़ करना बहुत महंगा पड़ गया। महिला ने...