inspace haldwani
Home सक्सेस स्टोरी देहरादून- उत्तराखंड में इसलिए जिम कार्बेट को कहते थे "गोरा ब्राह्मण", नैनीताल...

देहरादून- उत्तराखंड में इसलिए जिम कार्बेट को कहते थे “गोरा ब्राह्मण”, नैनीताल जिले से था खास लगाव

जेम्स एडवर्ड जिम कार्बेट आयरिश मूल के भारतीय लेखक व दार्शनिक (Philosopher) थे। उनका जन्म नैनीताल जिले के कालाढूंगी में 25 जुलाई 1875 को हुआ था। उनकी प्रारंभिक शिक्षा नैनीताल के सेंट जोसेफ कॉलेज से हुई। जिम कार्बेट लेखक के साथ-साथ एक अच्छे शिकारी, पर्यावरणविद व दयावान व्यक्ति थे। उन्होंने अपनी जिंदगी का ज्यादातर समय नैनीताल जिले के कालाढूंगी के जंगलो में बिताया। उस वक्त वहां बाघो की संख्या अधिक थी, जिनमें से कई आदमखोर भी थे। वर्ष 1907 से 1938 के बीच जिम कार्बेट ने 33 नरभक्षियों का शिकार कर उन्हें मार गिराया।

“मैन ईटर्स ऑफ कुमाऊं” में लिखी ये बात

इनमें 19 बाघ और 14 तेदुंए शामिल थे। सरकारी रिकार्ड ने अनुसार इन जानवरों ने गांव के 1200 लोगों को मौत के घाट उतारा था। जिम हमेशा अकेले शिकार करना पंसद करते थे, वे जंगल में पैदल घूमते और शिकार करते। उत्तराखंड में लोग उन्हें “गोरा ब्राह्मण” के नाम से भी जानते थे। अपनी “मैन ईटर्स ऑफ कुमाऊं” नामक पुस्तक में उन्होंने आदमखोर जानवरों का जिक्र करते हुए लिखा था कि अधिकांश जानवर प्राकृतिक शिकार करने में असमर्थ होने के चलते आदमखोर बनते है।

edward jim corbett

उनकी माने तो इस तरह के जानकर किसी बिमारी या चोट से ग्रसित होते है। शिकार कथाओं के कुशल लेखकों में जिम कार्बेट का नाम विश्र्व में अग्रणीय है। आज कुमाऊं- गढ़वाल की धरती पर उनके नाम से स्थापित जिम कार्बेट नेश्नल पार्क है, जो कि विक्ष्व प्रसिद्ध है। जिम कार्बेट का नाम विश्र्व के प्रसिद्ध शिकारी के रूप में दर्ज है। कालाढूंगी में उनका म्यूजियम भी है जहां उनकी पुस्तकें उनकी बंदूक, उनके कपड़े और अन्य वस्तुएं आज भी सुरक्षित है।

Related News

देहरादून- देवभूमि को नशे के प्रकोप से बचाने की ये लड़ाई है काफी पुरानी, पढ़े टिंचरी माई की पूरी कहानी

दीपा नौटियाल उत्तराखंड में जल, शिक्षा और नशे के खिलाफ जंग छेड़ने वाली महिला थी। उनका जन्म 1917 को पौड़ी गढ़वाल में हुआ। उन्होंने...

देहरादून- उत्तराखंड के इस लाल का डांडी यात्रा के अमर सैनानियों में गिना जाता है नाम, इतना संघर्ष भरा रहा जीवन

उत्तराखण्ड का पर्वतीय क्षेत्र हमेशा से ही त्याग, तपस्या व बलिदान की भूमि रहा है। आजादी के दीवानों की देवभूमि में कोई कमी नहीं...

देहरादून- उत्तराखंड की बेटी इस फिल्म में नज़र आएगी बॉलीवुड स्टार रणबीर कपूर के साथ, इस अभिनेत्री को किया रिप्लेस

उत्तराखंड की तृप्ति डिमरी जल्द अभिनेता रणबीर कपूर के साथ बॉलीवुड फिल्म एनीमल में नजर आएंगी। वर्ष 2017 में निर्देशक श्रेयस तलपड़े की फिल्म...

देहरादून- भारतीय टीम के इस मशहूर खिलाड़ी का उत्तराखंड में हुआ जन्म, इस मैच में खेला डेब्यू

ऋषभ राजेंद्र पंत एक पेशेवर भारतीय क्रिकेटर हैं। जो इंडियन प्रीमियर लीग में भारत, दिल्ली और दिल्ली की राजधानियों के लिए खेलते हैं। ऋषभ...

देहरादून- देवभूमि की अर्चना पूरन सिंह को इसलिए मिला ये खास अवार्ड, कर चुकी है 100 के अधिक फिल्म और नाटक

अर्चना पूरन सिंह एक भारतीय टेलीविजन प्रस्तुतकर्ता और फिल्म अभिनेत्री हैं। वह बॉलीवुड फिल्मों में कॉमेडी भूमिकाओं के लिए जानी जाती हैं। अर्चना कई...

देहरादून- इस टेलीविजन अभिनेत्री का है उत्तराखंड से पुराना ताजा, इस कॉलेज से पूरी की पढ़ाई

रूप दुर्गापाल एक भारतीय टेलीविजन अभिनेत्री हैं। उन्हें धारावाहिक बालिका वधु में सांची के रूप में उनकी भूमिका के लिए जाना जाता है। रूप...