drishti haldwani

नई दिल्ली- अगर आपका भी है PNB बैंक में खाता, तो जाने क्यूं बैंक ने जारी किया अपने ग्राहकों के लिए अलर्ट

107

नई दिल्ली- न्यूज टुडे नेटवर्क: इन दिनों ऑनलाइन बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, फोन बैंकिंग और ATM से धोखाधड़ी के मामले लगातार प्रकाश में आ रहे हैं। ऐसा ही एक मामला दिल्ली में पंजाब नेशनल बैंक के वसंत विहार ब्रांच में समाने आया है। PNB के वसंत विहार ब्रांच के 61 खाताधारक धोखाधड़ी के शिकार हुए हैं। इनके बैंक खातों से कुल मिलाकर करीब 15 लाख रुपये निकाल लिए गए हैं। पीएनबी ने खाताधारकों की शिकायत पर पुलिस में मामला दर्ज कराया है। बैंक ने फ्रॉड से बचने के कुछ तरीके बताए हैं, जिससे आपका पैसा सुरक्षित रह सकता है। वही इस घटना के सामने आने के बाद से पीएनबी ने अपने ग्राहकों के लिए अलर्ट जारी कर दिया है।

iimt haldwani

आखिर क्या है पूरा मामला

जानकारी मुताबिक पीएनबी के खाताधारकों ने बैंक को बताया कि बिना जानकारी उनके एटीएम से ट्रांजैक्शन हुआ है। एक के बाद एक खाताधारकों से अवैध ट्रांजैक्शन की शिकायत मिली। उनका कहना है कि डेबिट कार्ड उनके पास होने के बावजूद विभिन्न एटीएम से पैसे निकाले गए है। इसके बाद बैंक ने ग्राहकों की लिस्ट बनाई तो पाया कि 61 लोगों ने अपने खाते पैसे गंवाए हैं। जिसके बाद पीएनबी ने अपने ग्राहकों को सावधान करते हुए अलर्ट जारी किया है। पीएनबी का कहना है कि आपकी जानकारी के बिना स्पाईवेयर आपका प्राइवेट डाटा चोरी कर रहा है। इस चोरी की जानकारी का उपयोग पहचान की चोरी या वित्तीय धोखाधड़ी के लिए किया जा रहा है। बैंक का कहना है कि ग्राहकों के डाटा में फोन कॉल हिस्ट्री, टेस्ट मैसेज, यूजर का लोकेशन, ब्राउजर हिस्ट्री, कॉन्टैक्ट लिस्ट, ईमेल और फोटो शामिल हैं। बता दें कि आपके लाख सावधानी बरतने के बाद भी कंप्यूटर या आपके मोबाइल में वायरस या स्पाईवेयर आ ही जाते हैं।

ऐसे चोरी होने से बचाये इंफोर्मेशन

इसके लिए पहले आप अपने डिवाइस में ऑटो लॉक एनेबल करें। फिर अपने सिम के लिए पिन का इस्तेमाल करें। मोबाइल चोरी पर लोग आपका सिम यूज नहीं कर पाएंगे। अपने मेमोरी कार्ड के लिए पासवर्ड सेट करें।

एंटी वायरस सॉफ्टवेयर इंस्टाल करें

अच्छा एंटी वायरस सॉफ्टवेयर इंस्टाल करें। कोई नकली सॉफ्टवेयर डाउनलोड ना करें, इनके जरिये मेल वेयर आपके सिस्टम में आ सकता है। एंटी वायरस के नकली पॉप अप पर कभी क्लिक ना करें। अपने सिस्टम के ऑपरेटिंग सिस्टम को हमेशा अपडेट रखें। पायरेटेड एप या सॉफ्टवेयर से हमेशा बचें। इनमें मेल वेयर हो सकता है।

बैंक खाते से पैसे निकलने पर तुरंत करें ये काम

कस्टमर केयर को फोन कर कार्ड ब्लॉक कराएं। इसके बाद जितनी जल्दी हो सके पुलिस में शिकायत दर्ज कराएं और उसका रेफरेंस नंबर या शिकायत की फोटो लेकर उसे संबंधित बैंक के साथ शेयर करें। समस्या का समाधान नहीं होने पर आरबीआई बैंक के लोकपाल को शिकायत करें।