inspace haldwani
Home लाइफस्टाइल मड़वे की रोटी ,जानिये कैसे रखती है ठण्ड के साथ बीमारियों को...

मड़वे की रोटी ,जानिये कैसे रखती है ठण्ड के साथ बीमारियों को दूर,बच्चो के लिए है जरूरी ।

उत्तराखंड में इन दिनों ठण्ड का मौसम है और ठण्ड के इस मौसम में सर्दी जुखाम व अन्य बीमारिया होना आम बात है तो आज हम बात करेंगे की कैसे ठण्ड के इस मौसम में खान पान से आप अपना और अपने बच्चो  का ख्याल रख सकते है  साथ ही बात करेंगे मड़वे में ऐसे कौन से खास तत्व है जो आपको बीमारियों से दूर रखते है और बताएंगे की बच्चो की सेहत के लिए मड़वे की रोटी कैसे उपयोगी है ?

उत्तराखंड में जैसे कुदरत की विविधता के अनेक रूप देखने को मिलते हैं, ठीक उसी तरह यहा के खान-पान में भी विविधता का समावेश है। मौसम के अनुसार यहां  खाद्य पदार्थो  का सेवन किया जाता है जिससे उत्तराखंड के पहाड़ी जिलों में रहने वाले लोग ठण्ड  के साथ साथ बीमारियों से भी बचे रहते है।

ठण्ड के इस मौसम में मड़वा बच्चो  के लिए काफी फायदेमंद है मडुवे की रोटी में तमाम ऐसे औषधीय गुण है जो आपके शरीर को गर्म रखते है ,बच्चो  में अक्सर केल्सियम की कमी को देखा जाता है और पौष्टिक पदार्थो की कमी के कारण थकान भी देखने को मिलती है मड़वे की रोटी जो शरीर में केल्सियम  की मात्रा को बनाये रहती है और शरीर को नई ऊर्जा प्रदान  करती है क्युकी इसमें प्रोटीन की मात्रा भी अधिक रहती है नियमित मड़वे की रोटी के सेवन से आप अपने बच्चो  को इस ठण्ड के मौसम में चुस्त दुरुस्त बनाने के साथ साथ बीमारियों से भी दूर रख सकते है। आपने गौर किया होगा की पहाड़ में रहने  वाले लोग अन्य लोगो की तुलना में काफी कम बीमार पड़ते है और शारीरीक रुप से काफी ऊर्जावान होते है उचित खानपान ही इसका मुख्य कारण है क्युकी मड़वे की रोटी  उनका मुख्य भोजन है।

मडुवा का अपना विशेष महत्व रहा है। तिल व धनिये की चटनी और घी के साथ मडुवा के आटे से बनी रोटी का अलग ही लजीज जायका होता है। मड़ुवे में तमाम ऐसे औषधीय  गुण है जिसमे  शुगर , ब्लड प्रेशर , शारीरिक कमजोरी , माँसपेशीयो और हड्डियों की कमजोरी व् दर्द , क्षय व् अस्थमा जैसे रोगो  से लड़ने की ताकत होती है  यही नहीं, लाल चावल के साथ राजमा, उड़द, तोर , गहत और लोबिया की दालें जो यहां के लोगो का  प्रमुख व्यंजन  हैं। ये सभी चीजे शरीर में प्रोटीन, वसा, खनिज, रेशा , कार्बोहाइड्रेट्स, कैल्शियम, फॉस्फेारस व आयरन की कमी दूर करते हैं। परिणामस्वरूप विषम परिस्थितियों में रहने के बावजूद पर्वतीय क्षेत्रों के लोग स्वस्थ रहते हैं।

मड़वे की रोटी के साथ साथ इन सभी पहाड़ी व्यंजनों को अगर आप अपने व  अपने बच्चो  के भोजन में नियमित रूप से शामिल करते है तो यह आपके स्वास्थ के लिए काफी लाभदायक होगा ,मड़वे की रोटी से रोग प्रतिरोधक क्षमता  बढ़ती है तो आज से ही अपने बच्चो की भोजन शैली को बदलकर उसमे मड़वे की रोटी भी शामिल करे ताकि आपके बच्चो का शारीरिक विकास अच्छे से हो सके और ठंड के मौसम में वह बीमारियों से बचे रहे।

Related News

नई दिल्ली- जाने क्या है सब्जियों के राजा बैंगन का इतिहास, इन बीमारियों के लिए है फायदेमंद

भर्ता हो या फिर बिहारी लिट्टी के साथ खाए जाने वाला चोखा, टमाटर और मटर के साथ लजीज सब्जी भी कम नहीं। बात सब्जियों...

नई दिल्ली- स्वादिष्ठ नेपाली पिज्ज़ा बनाने की ये है पूरी रैसिपी, इन चीजों की मदद से तैयार करें होम मेड पिज़्ज़ा

पिज्जा का स्वाद अनोखा होता है यही वजह है कि कई लोगों को पिज्जा काफी पसंद होता है। लेकिन क्या आपने कभी नेपाली पिज्ज़ा...

हल्द्वानी- ब्यूटी फोटोशूट कॉंटेस्ट का आयोजन , शाही वेडिंग ड्रेस आभूषण के साथ रैम्प में उतरी मॉडल्स

हल्द्वानी - हल्द्वानी में आज नलिन बालटियाँ फोटोग्राफी द्वारा ,ब्राइडल ब्यूटी फोटोशूट कॉंटेस्ट करवाया गया। जिसका एकमात्र उद्देश हल्द्वानी शहर में आने वाले वेडिंग सीज़न...

मकर संक्रानि के विशेष पर्व पर सूर्य की ऐसे करे पूजा,खत्म होंगे सारे दोष

मकर संक्रांति हिन्दू संस्कृति का एक विशेष त्यौहार है जिसे पुरे भारत वर्ष में मनाया जाता है ऐसी मान्यता है की यह पर्व सूर्य...

बर्ड फ्लू की संभावनाओं के साथ सावधानी बरतने की है जरूरत,अपनायें ये तरीके।

जहाँ एकतरफ देश कोरोना का संकट झेल रहा है वही अब बर्ड फ्लू नाम की बीमारी ने लोगों के मन में दहशत पैदा कर...

नई दिल्ली-Whatsapp को तेजी से पछाड़ रहा ये मैसेंजर एप, इसलिए हासिल की टॉप पोजिशन

इंस्टैंट मेसेजिंग ऐप वॉट्सऐप को उसकी नई प्राइवेसी पॉलिसी 2021 का काफी नुकसान हो रहा है और दुनियाभर में लोग इस ऐप का विकल्प...