drishti haldwani

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कितना मिलता है वेतन , जानिए आखिर कहां खर्च करते हैं वह अपनी सेलरी

469

प्रधानमंत्री का वेतन – हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में बात करें, तो वह कई चीजों को लेकर हमेशा सुर्खियों में बने रहते है। अपनी पर्सनल लाइफ से लेकर अपने सैलरी तक। क्या आपको पता है कि एक प्रधानमंत्री के तौर पर उनका वेतन 1.65 लाख रुपए है। उसके अलावा उन्हें बाकी अलाउंस भी दिए हैं। हैरानी की बात तो ये है कि प्रधानमंत्री का वेतन एक कैबिनेट सचिव से भी कम होती है। जबकि कैबिनेट सचिव वेतन की बात करें तो 2.50 लाख रुपए प्रति माह वेतन मिलता है। ऐसे में हम आपको प्रधानमंत्री मोदी के वेतन के बारे में बताने जा रहे हैं, जो दुनियां के बाकी देशों के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से भी कई गुना कम है।

iimt haldwani

इतना मिलता है प्रधानमंत्री को वेतन

प्रधानमंत्री कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार, प्रधानमंत्री की बेसिक सेलरी 50,000 रुपए है, निर्वाचन क्षेत्र भत्ता 45,000 रुपए, रोज का भत्ता 2000 रुपए यानि हर महीने 62,000 रुपए और व्यय भत्ता 3000 रुपए, यानि कुल मिलाकर नरेन्द्र मोदी जी की सैलरी 1.65 लाख रुपए महीना है। इस तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सालाना 19.2 लाख रुपए मिलते हैं। इसमें प्रधानमंत्री की विदेश यात्राएं व खाना-पीना भी सरकारी खर्चे से हैं। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सैलरी दुनिया के अन्य राष्ट्राध्यक्षों के मुकाबले बेहद कम है आपको बता दे कि दिल्ली के विधायकों की सेलरी इससे कई गुना ज्यादा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आम आदमी पार्टी के विधायकों की सैलरी 2.35 लाख है।

modi66

प्रधानमंत्री यहां खर्च करते हैं अपना वेतन

इस बात को बहुत कम लोग जानते हैं कि प्रधानमंत्री मोदी की सैलरी का आखिर क्या करते है। पीएम मोदी का एक बड़ा हिस्सा जरूतरमंदों को दे देते हैं। या यूं कहें कि पूरा प्रधानमंत्री रिलीफ फंड में चला जाता है। मोदी अपनी सेवा से प्राप्त रुपए को अपने पास नहीं रखते हैं। ऐसा कम ही देखने को मिलता है, जब कोई अपना वेतन किसी राहत कोष में जमा कर दें। लेकिन पीएम मोदी ऐसा हर महीने करते हैं। यह बात बड़े ही हैरानी की बात है कि क्योंकि बड़े से बड़ा राष्ट्राध्यक्ष ऐसा करने से एक बार जरूर सोचेगा।

सीएम पद की सैलरी यहां करते थे खर्च करते थे मोदी

2014 से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब वो अपना पूरा वेतन अपने विधानसभा क्षेत्र में खर्च कर देते थे। तब उन्हें 2.10 लाख रुपए प्रति सेलरी मिलती थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ज्यादातर अपनी सैलरी दान कर देते हंै, जब वो गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब भी ऐसा ही करते थे। एक अधिकारी का कहना है कि जब उन्होंने मुख्यमंत्री का पद छोड़ा तब 21 लाख रुपए उन्होंने गुजरात की बेटियों के नाम कर दिया था। प्राय: देखा जाता है कि बहुत कम ही ऐसे मुख्यमंत्री या प्रधानमंत्री और नेता है,जो अपनी सेलरी देश की जनता को समर्पित कर देते हैं, उनमें से हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी एक हैं।