यहां की युवतियां तरस रही हैं शादी के लिए, इस गांव में नहीं है कोई मर्द, मर्दों की तलाश में रहती हैं यहां की युवतियां

319

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क : हर लडक़ी का सपना होता है कि उसकी शादी धूमधाम से हो। और हमारे देश में थोड़ी मुश्किल है किसी लडक़ी की शादी करना लेकिन इतना भी मुश्किल नही है। लेकिन क्या आप जानते हैं ऐसी जगह के बारे में जहाँ लडक़ी की शादी करना बेहद ही मुश्किल का काम है। क्योंकि यहाँ कि लड़कियां काफी खूबसूरत है। जानिए इनकी शादी ना होने के पीछे का कारण।

dsd-640x

ज्यादातर 18 से 30 वर्ष महिलाएं


पूरा माम्मला ब्राजील के एक छोटे से गांव का है जिसकी आबादी फिलहाल 600-700 की है और आलम ये है कि यहां की 90 प्रतिशत तक की आबादी महिलाओं की है जिनमे अधिकतर महिलाएं 18 से 30 की बीच की उम्र की है और बेहद ही खूबसूरत भी है, आप भी जानते है ब्राजील की लडकियां खूबसूरती के मामले में दुनिया में तीसरे नम्बर पर आती है। 600 महिलाओं वाले इस गांव में अविवाहित पुरुषों का मिलना बेहद दुर्लभ है और शादी के लिए यहां की लड़कियों की तलाश अधूरी है।

girls6

घट गई है यहां पुरुषों की आबादी

इस गांव को बसाने वाली भी एक महिला ही थी और बाद में यहां पुरुष कम ही रहे जिसके बाद धीरे-धीरे पुरुषो की आबादी इतनी घट गयी कि अब यहां की लडकियां शादी के लिए तरस रही हैं, अब ऐसे में इनके साथ दिक्कत ये भी है कि ये सारी लड़कियां शादी के लिए अपना गांव छोडक़र के जाना भी नही चाहती है वो चाहती है कि उनसे जो लडक़ा शादी करे वो उसी गांव में आकर रहे, और इसके लिए वो जो भी चीज मांगेगा वो महिलाएं उसे लाकर के देगी बस उसे घर जमाई बनकर के रहना पड़ेगा।

hqdefault (1)

अपनी मर्जी से चुनकर कर सकते हैं शादी

ऐसे में आलम तो ये है कि अगर कोई लडक़ा वहां पर शादी करने जाए तो उसे 10, 20, 40, 50, लड़कियां लाइन लगाए हुए मिलेंगी, जहां वो अपनी मर्जी से किसी को भी चुनकर के उसके साथ शादी रचाकर वहां बड़े ही ऐश-ओ-आराम की जिन्दगी जी सकता है, लेकिन इसके लिए फिर उसे अपना मूल घर और मूल स्थान छोडऩा पड़ता है, और इस गांव में आने वाले मर्दों के साथ सबसे बड़ी दिक्कत बस यही है, कि ऐसे में आप चाहें तो अपना मौका जाकर के जरुर आजमा सकते हैं, लेकिन अच्छी बॉडी बिडिंग करके जाने की जरूरत पड़ेगी। देश की सरकार सिर्फ इसी वजह से ही लिंगानुपात पता करवाने के लिए लाखो करोड़ो फूंक देती है, क्योंकि समाज में स्त्री और पुरुष की संख्या का लगभग सामान बने रहना बेहद ही जरूरी है वरना सामाजिक समरसता बिलकुल खत्म हो जाती है।