देहरादून- देवभूमी में पहाड़ों ने ओढ़ी बर्फ की चादर, पर्यटकों और कारोबारियों के खिले चेहरे

138

देहरादून- न्यूज टुडे नेटवर्क: उत्तराखंड की पहाड़ियों ने बर्फ की चादर ओढ़ ली है। हिमाचल सहित पूरे उत्तर भारत में इन दिनों कड़ाके की ठंड पड़ रही है। एक ओर जहां सर्दियां अपने पूरे चरम पर है और घाटी में ठंड जमकर कहर बरपा रही है। वही पर्यटन नगरी मनाली और कुमाऊं के अल्मोड़ा, कौसानी, मुनस्यारी, सोमेश्वर समेत कई ऊंचे पहाड़ी क्षेत्रों में मौसम ने एक बार फिर अपनी करवट बदली है और आस-पास के क्षेत्र में भारी बर्फबारी का दौर शुरू हो गया है। मौसम के बदले मिजाज और लगातार हो रही बर्फबारी के चलते ठंड का प्रकोप जारी है। लेकिन ऐसे में यहां पहुंचे पर्यटक इस ठंड में भी बर्फबारी का पूरा आनंद ले रहे हैं।

मसूरी में सीजन का पहला हिमपात

मसूरी में सीजन का पहला हिमपात हुआ है। जिससे पर्यटकों ने यहां आना शुरू कर दिया है। बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के साथ ही हेमकुंड साहिब में जमकर बर्फबारी हुई, वहीं निचले स्थानों में बारिश रुक रुककर हो रही है। सौसम विभाग के अनुसार मौसम का मिजाज और तल्ख होगा। मौसम की चेतावनी के मद्देनजर जिला प्रशासन ने देहरादून, उत्‍तरकाशी, पौड़ी, रुद्रप्रयाग, हरिद्वार और टिहरी के स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया है। मसूरी के लाल टिब्बा में मौसम का पहला हिमपात हुआ। धनोल्टी, बुरांशखंडा, सुरकंडा, नागटिब्बा में बर्फबारी हुई। मसूरी में तापमान 2 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया।

मनाली जाने वाले सैलानियों के लिए अच्छी खबर

मनाली सहित इसके आस-पास के क्षेत्रों में भी देर रात से ही मौसम ने करवट ली है और रोहतांग दर्रे सहित ऊंची चोटियों पर जमकर बर्फबारी हो रही है। घाटी में हो रही बर्फबारी से पर्यटकों के साथ पर्यटन कारोबारियों के चेहरों पर भी खुशी नजर आ रही है। उनका कहना है कि इस बार बर्फबारी से सर्दियों का पर्यटन सीजन अच्छा रहेगा घाटी में हो रही बर्फबारी से पर्यटकों में रोमांच है। यहां सर्दियों की बर्फबारी का लुत्फ लेने के लिए देश विदेश से लाखों की संख्या में पर्यटक पहुंचते हैं। मनाली में हो रही बर्फबारी से पहाड़ों की चोटियां सफेद हो गई है। ऐसे में यहां आने वाले सैलानियों के लिए ये काफी अच्छी खबर है।

एक सप्ताह तक बनी रहेगी स्थिति

राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग और पिथौरागढ़ में भारी बर्फबारी के आसार हैं। इसके अलावा देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी, नैनीताल और ऊधमसिंहनगर में बारिश के साथ ओले भी गिर सकते हैं। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक के मुताबिक प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ (वेस्टर्न डिस्टर्बेंस) है। यह स्थिति करीब एक सप्ताह तक बनी रह सकती है। कुमाऊं में भी मौसम का मिजाज बदला। तराई व भाबर में बारिश हुई। अल्‍मोड़ा जिले के रानीखेत के स्याहीदेवी, चौबटिया तथा द्वाराहाट में दूनागिरि, भरतकोट व पांडवखोली की चोटियों पर हिमकण गिरने शुरू, हल्की बर्फबारी भी हुई। वहीं, पिथौरागढ़ नगर के निकट सौरलेख, ध्वज, थलकेदार, चंडाक, चौकोड़ी में हिमपात हुआ।