inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तराखंड हरिद्वार- गन्ना मिल प्रशासन की मनमानी से छूटे पुलिस के पसीने, किसान...

हरिद्वार- गन्ना मिल प्रशासन की मनमानी से छूटे पुलिस के पसीने, किसान ऐसे हो रहे शोषण का शिकार

उत्तराखंड- सुरेश भट्ट की एंट्री से सीएम की कुर्सी पर फिर अटैक की फिजूल कोशिश, समझिए उत्तराखंड की राजनीति

बीजेपी नेताओं के बीच में कुछ लोग फिर से सुरेश भट्ट की एंट्री से मुख्यमंत्री और दूसरों नेताओ के बीच खटास घोलना चाहते है।...

देहरादून- उत्तराखंड में कैंसर मरीजों को जल्द मिलेगी ये सुविधा, सांसद अनिल बलूनी ने की बड़ी घोषणा

उत्तराखंड में टाटा समूह के माध्यम से विश्व स्तरीय कैंसर संस्थान खोला जाएगा। टाटा समूह के प्रमुख रतन टाटा ने राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी...

देहरादून- उत्तराखंड में आज इस जिले में मिले सबसे अधिक मामले, इतनों ने गवाईं अपनी जान

उत्तराखंड में आज 424 नये कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के साथ ही राज्य में कोरोना का आंकड़ा बढ़कर 73951 हो गया है। जबकि 13...

उत्तराखंड- कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए इस जिले में फिर लगेगा लॉकडाउन, रहेंगे ये नियम

उत्तराखंड में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए देहरादून प्रशासन ने रविवार को बाजार बंद रखने का आदेश दिया है। सिर्फ जरूरी...

देहरादून- उत्तराखंड के इस गायक के जन्मदिन पर मनाया जाता है ‘जागर संरक्षण दिवस’, इसलिए मिला पद्मश्री पुरूस्कार

प्रीतम भरतवाण उत्तराखण्ड के विख्यात लोक गायक हैं। भारत सरकार ने उन्हें 2019 में पद्मश्री पुरूस्कार से समानित किया। वे उत्तराखण्ड में बजने वाले...

उत्तराखंड में गन्ना किसानों की दिक्कते कम होने का नाम नहीं ले रही है, बात हरिद्वार जिले की करें तो यहां के शुगर मिल प्रशासन ने सुविधा के नाम पर सिर्फ गन्ना किसानों का शोषण किया है, आलम यह है कि इस असुविधाओं की मार अब हरिद्वार जिला प्रशासन पर भी पड़नी शुरु हो गई है। यहां के लक्सर स्थित एक शुगर मिल में किसानों की भीड़ ने प्रशासन की मुश्किलें बढ़ा दी, यहां सड़कें गन्ने से भरे ट्रैक्टर ट्रॉली से व्यस्त हो गई है, 5 किलोमीटर से ज्यादा लंबा जाम अक्सर लगा रहता है, जिसे खोलने में पुलिस प्रशासन को कड़ी मशक्कत करनी पड़ती है।

48-48 घण्टें करना होता है इंतजार

लक्सर क्षेत्र के कुछ किसानों की माने तो मिल में किसानों के लिये कोई सुविधा नही है। हर वर्ष शुगर मिल प्रसाशन किसानों की सुविधाएं के दावे तो करता हैं, लेकिन मिल में न तो किसानों के खाने के लिये कैंटीन व न ही पीने के लिए पानी की कोई टंकी।

sugarcane farmers uttarakhand

48-48 घण्टें मिल के बाहर किसानों को गन्ने बेचने के लिये रुकना पड़ता है। जिस कारण किसानों के पास काफी गन्ना बचा रह गया हैं, और अब मिल प्रसाशन ने शुगर मिल को 30 मई तक बंद करने के निर्देश दे दिए है, इन हालातों में लॉकडाउन के कारण पहले से ही मंदी की मार झेल रहे किसानों पर चौतरफा मार पड़ी है। किसानों की हर तरफ़ परेशानी बढ़ती दिखाई दे रही है।

Related News

उत्तराखंड- सुरेश भट्ट की एंट्री से सीएम की कुर्सी पर फिर अटैक की फिजूल कोशिश, समझिए उत्तराखंड की राजनीति

बीजेपी नेताओं के बीच में कुछ लोग फिर से सुरेश भट्ट की एंट्री से मुख्यमंत्री और दूसरों नेताओ के बीच खटास घोलना चाहते है।...

देहरादून- उत्तराखंड में कैंसर मरीजों को जल्द मिलेगी ये सुविधा, सांसद अनिल बलूनी ने की बड़ी घोषणा

उत्तराखंड में टाटा समूह के माध्यम से विश्व स्तरीय कैंसर संस्थान खोला जाएगा। टाटा समूह के प्रमुख रतन टाटा ने राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी...

देहरादून- उत्तराखंड में आज इस जिले में मिले सबसे अधिक मामले, इतनों ने गवाईं अपनी जान

उत्तराखंड में आज 424 नये कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के साथ ही राज्य में कोरोना का आंकड़ा बढ़कर 73951 हो गया है। जबकि 13...

उत्तराखंड- कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए इस जिले में फिर लगेगा लॉकडाउन, रहेंगे ये नियम

उत्तराखंड में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए देहरादून प्रशासन ने रविवार को बाजार बंद रखने का आदेश दिया है। सिर्फ जरूरी...

देहरादून- उत्तराखंड के इस गायक के जन्मदिन पर मनाया जाता है ‘जागर संरक्षण दिवस’, इसलिए मिला पद्मश्री पुरूस्कार

प्रीतम भरतवाण उत्तराखण्ड के विख्यात लोक गायक हैं। भारत सरकार ने उन्हें 2019 में पद्मश्री पुरूस्कार से समानित किया। वे उत्तराखण्ड में बजने वाले...

रुद्रपुर: इस तरह लूटते थे टुकटुक, पुलिस ने धरदबोचा

रुद्रपुर। बीते दिवस हुई दो टुकटुक लूटकांडों का कोतवाली पुलिस ने 48 घंटे के भीतर पर्दाफाश करते हुए एक रेस्टोरेन्ट के कारीगर सहित दो...