inspace haldwani
inspace haldwani
Home आध्यात्मिक HAPPY DIWALI-2020- पटाखों से जलने पर न करें ये गलतियां, ऐसे करें...

HAPPY DIWALI-2020- पटाखों से जलने पर न करें ये गलतियां, ऐसे करें तुंरत उपचार

वार्ता विफल: किसान बोले, गोली या समाधान, सरकार से कुछ तो लेकर रहेंगे

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। सरकार और किसानों के बीच चल रहा गतिरोध अभी समाप्‍त होता नजर नहीं आ रहा है। मंगलवार दोपहर तीन बजे चल...

किसान संगठनों से सरकार की वार्ता का दौर जारी, शाम तक सकारात्म‍क नतीजे आने की उम्मीद

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। किसान और सरकार के बीच कृषि कानून को लेकर टकराव टालने और विवाद निपटाने के लिए तमाम कोशिशें जारी हैं। किसानों...

बीएसएफ का स्थापना दिवस आज, पीएम मोदी ने दी बधाई

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। आज मंगलवार को बीएसएफ का स्‍थापना दिवस मनाया जा रहा है। इस मौके पर समारोह का आयोजन भी किया जा रहा...

नेपाल सीमा: यूपी से बिहार तक एलर्ट, पुलिस और बार्डर फोर्स सतर्क, जानिए पीएफआई के सदस्यों की घुसपैठ को लेकर खुफिया एजेंसियों ने...

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। घुसपैठ की संभवनाओं और खुफिया एजेंसियों के इशारे के बाद बिहार से यूपी तक नेपाल सीमा पर सतर्कता बढ़ा दी गई...

काशी: क्रूज पर सवार होकर बाबा विश्वनाथ के दर्शनों कों पहुंचे पीएम मोदी

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। वाराणसी में बाबा काशी विश्‍वनाथ के दर्शन करने पीएम मोदी क्रूज से पहुंचे हैं। मोदी आज सोमवार दोपहर काशी पहुंचे। शाम...

दिवाली का त्योहार रोशनी और पटाखों के बिना अधूरा है। लेकिन कई बार इस खुशहाली पर नजर तब लग जाती है जब पटाखों से बड़े हादसे हो जाते है। हानिकारक कैमिकल्स से भरे पटाखों को जलाने से प्रकृति और पर्यावरण को तो नुकसान होता ही है। साथ ही इनसे निकलने वाली तेज आग और रोशनी कई बार लोगों को भी जला देती है। पटाखों की जलन अलग तरह की होती है, इसलिए कई बार लोग इसे सामान्य समझकर गलतियां कर देते हैं। पटाखों से जलने पर कभी भी इसे नजरअंदाज न करें बल्कि तुरंत इसका इलाज करें पटाखों से जलने के बाद छोटी-सी भी लापरवाही आपके लिए कोई बड़ी समस्या हो सकती है। ऐसे में यह जानना बेहद जरूरी है कि पटाखों से हाथ जलने पर प्राथमिक उपचार के लिए क्या कदम उठाने जरूरी हैं।

इन गलतियों से बचें-

अगर पटाखें जलाते समय आपका शरीर कही पर जल जाये तो उस जगह कभी बर्फ का प्रयोग न करें। पटाखों के जलने पर कभी भी बर्फ नहीं लगानी चाहिए। चिकित्सकों की माने तो बर्फ पटाखे के घाव पर लगाने से ब्लड क्लॉट हो जाता है। रक्त संचार पर भी इसका असर होता है। ऐसे में बर्फ क ा इस्तेमाल न करें। इसके अलावा घाव पर कभी भी कॉटन और रूई नहीं लगानी चाहिए। रूई घाव पर चिपक जाती है इसके बाद जलन होती है। पटाखों के चलते पर पानी न पिये बल्कि ओआरएस घोल का इस्तेमाल करें। पानी पीने पर सांस की नली में पानी फंस जाता है। अगर पटाखों से जलने पर शरीर में कपड़ा चिपक जाता है तो तुंरत चिकित्सक के पास जाये। नहीं तो कपड़े के चिपकने से आपका घाव और बढ़ सकता है जिससे बाद में शरीर में इंफेक्शन फैल जाता है।

पटाखों से जलने पर करें ये उपाय-

अगर आप पटाखे जलाते समय जल गये है तो आप तुंरत उस पर ठंडा पानी डाले।
घाव में नारियल का तेल लगाये।
घाव वाली जगह पर तुलसी के पत्तों का रस लगाये।

 

Related News

वार्ता विफल: किसान बोले, गोली या समाधान, सरकार से कुछ तो लेकर रहेंगे

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। सरकार और किसानों के बीच चल रहा गतिरोध अभी समाप्‍त होता नजर नहीं आ रहा है। मंगलवार दोपहर तीन बजे चल...

किसान संगठनों से सरकार की वार्ता का दौर जारी, शाम तक सकारात्म‍क नतीजे आने की उम्मीद

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। किसान और सरकार के बीच कृषि कानून को लेकर टकराव टालने और विवाद निपटाने के लिए तमाम कोशिशें जारी हैं। किसानों...

बीएसएफ का स्थापना दिवस आज, पीएम मोदी ने दी बधाई

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। आज मंगलवार को बीएसएफ का स्‍थापना दिवस मनाया जा रहा है। इस मौके पर समारोह का आयोजन भी किया जा रहा...

नेपाल सीमा: यूपी से बिहार तक एलर्ट, पुलिस और बार्डर फोर्स सतर्क, जानिए पीएफआई के सदस्यों की घुसपैठ को लेकर खुफिया एजेंसियों ने...

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। घुसपैठ की संभवनाओं और खुफिया एजेंसियों के इशारे के बाद बिहार से यूपी तक नेपाल सीमा पर सतर्कता बढ़ा दी गई...

काशी: क्रूज पर सवार होकर बाबा विश्वनाथ के दर्शनों कों पहुंचे पीएम मोदी

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। वाराणसी में बाबा काशी विश्‍वनाथ के दर्शन करने पीएम मोदी क्रूज से पहुंचे हैं। मोदी आज सोमवार दोपहर काशी पहुंचे। शाम...

काशी में बोले पीएम मोदी- कृषि कानूनों पर किसानों को भ्रम में डाला जा रहा है

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। किसानों के आंदोलन के बीच प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि कृषि कानूनों को लेकर किसानों के बीच भ्रम फैलाया...