हल्द्वानी- कोरोना वारियर्स की हालत देख आप भी रह जाएंगे दंग, कांग्रेस बोली हाय कैसे करेंगे इलाज

Slider

कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सूबे के मुखिया त्रिवेंद्र सिंह रावत हर मुमकिन प्रयास करते नजर आ रहे। फिर चाहे प्रशासन हो या स्वास्थ्य विभाग, वे लगातार हर जिले की जानकारी जुटा रहे है। ऐसे में हल्द्वानी में भर्ती 3 कोरोना पॉजिटिव केस आने के बाद हेल्थ कोरोना योद्धा बगैर सावधानियों के इलाज और निगरानी करने में जुटे हुए हैं। कई अस्पताल, मोतीनगर का कोरंटीन सेंटर, बी डी पांडेय अस्पताल में सैकड़ो कर्मचारियों की जिदंगी जोखिम में है। ये कहना है कांग्रेस के जिला महामंत्री हेमन्त साहू का। हेमन्त साहू की माने तो हल्द्वानी के एसटीएच में सैकड़ो कर्मचारियों की जिदंगी के साथ खिलवाड़ हो रहा है। कर्मचारी बिना सुरक्षा किट के नौकरी कर रहे है।

Sushila tiwari hospital haldwani

Slider

एसटीएच में जान की बाजी लगाकर कर्मचारी कर रहे काम

एसटीएच प्रशासन व सरकार इन कर्मचारियों पर ध्यान देना चाहती हैं लेकिन अभी उनके पास इंतिजाम काफी कम ही है। उनकी माने तो सरकार को तत्काल इन सभी लोगो को सुरक्षा किट प्रदान की जानी चाहिए, तकि इनमें कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। डिप्टी चिकित्साधिकारी रश्मि पंत का कहना है कि सुशीला तिवारी अस्पताल में कोरोना आईसोलेशन वार्ड बनाया गया है ऐसे में प्रत्येक कर्मचारी को जरूरी सामान दिया जा रहा हैं। कोरोना मरीज के संपर्क में आने से पहले ही डॉक्टरों मास्क,ग्लव्स दिए जा रहे हैं काफी मात्रा में पीपी किट, हैंड डिजिटल थर्मामीटर की आवश्यकता को देखते हुए के लिए उच्च अधिकारियों को अवगत कराया गया हैं। मोदीनगर में बनाया गये आईसोलेशन वार्ड में डॉक्टर अपने संसाधनों से कार्य मे जुटे हुए हैं इस पर उन्होंने कुछ जवाब नहीं दिया।

प्रशासन का नहीं कोई ध्यान

साहू का कहना है लोहाघाट के एक व्यक्ति द्वारा कोरोना से संक्रमित होने के भय से आत्म हत्या का प्रयास किया गया जिसको आइसोलेशन में रखा गया था। जिसका हॉस्पिटल में डॉक्टरों द्वारा ऑपरेशन किया जिसमें अन्य हॉस्पिटल के स्टाफ भी शामिल हुये थे जिनके पास कोरोना से बचाव के लिये गाउन के अलावा अच्छे क्वालिटी के माक्स भी नही थे जो कि बहुत निंदनीय है। साहू का कहना है कि उपनल के तहत जो कर्मचारी कार्य कर रहे है उनका इतना वेतन नही है कि वो निजी पैसे से बेहतर गुणवत्ता की किट खरीद सके सबसे ज्यादा दिक्कत सफाई कर्मचारियों के साथ वार्ड ब्याय को होती है। ऐसे में प्रशासन को इस ओर ध्यान देना चाहिए।

haldwani city news

क्या कहते है अधिकारी

वही एसडीएम विवेक राय की माने तो प्रशासन सभी गतिविधियों पर नजर रखे हुए है। कोरोना वायरस एक बहुत गंभीर बीमारी है जिसमें लापरवाही बरतने का कोई मौका किसी को नहीं दिया जाएगा। वही सुशीला तिवारी अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सक अरुण जोशी ने बताया कि अस्पताल में कर्मचारियों की सुरक्षा का पूरा ध्यान अस्पताल प्रशासन द्वारा रखा जा रहा है। सभी को मास्क, जूते, और सेफ्टी गाउन मुहया कराया गया है। इसके अलावा सैनिटाइजेशन की पूरी व्यवस्था की गई है। डॉ. जोशी की माने तो अस्पताल में अनेक तरह का स्टाफ काम करता है। कई केवल ऑफिस वर्क करते है जो इस किट की मांग कर रहे है। हालाकिं उनको भी महत्तवपूर्ण बचाव साम्रगी दी गई है।

यहाँ भी पढ़े

हल्द्वानी- उत्तराखंड में कोरोना मरीजों की संख्या पहुंची 22, नैनीताल जिले में मिले इतने पॉजिटिव

उत्तराखंड की बड़ी खबरें