inspace haldwani
Home उत्तराखंड हल्द्वानी- यहां बना उत्तराखंड का पहला स्क्वैश कोर्ट, जाने क्या है खासियत

हल्द्वानी- यहां बना उत्तराखंड का पहला स्क्वैश कोर्ट, जाने क्या है खासियत

उत्तराखंड में विकल्प बन कर उभरी है आप, जानिए आप नेताओं ने उठाए कौन से मुद्दे

किच्छा । आम आदमी के प्रदेश अध्यक्ष एसएस कलेर एवं प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया ने कहा कि आम आदमी पार्टी उत्तराखंड में विकल्प बन...

देहरादून- भ्रष्टाचार पर करारे वार का दंश झेल रहे हैं त्रिवेंद्र,अब सीबीआई करेगी दूध का ढूध पानी का पानी

देहरादून। मामला झारखंड का और दांव पर उत्तराखंड की अस्मिता। जी हां, अजब है पर सच है। झारखंड के एक आधारहीन मसले को उछालकर...

उत्तराखंड- ट्रेन में अकेले सफर करने वाली महिलाओं के लिए रेलवे का फैसला, शुरू किया खास मेरी सहेली मिशन

महिलाओं की सुरक्षा के लिए रेलवे ने बड़ा फैसला लिया है। जिसके तहत रेलवे स्टेशन और ट्रेन में अकेले सफर करने वाली महिला यात्री...

देहरादून- मुख्यमंत्री ने किया भाजपा प्रशिक्षण शिविर का शुभारंभ, राज्य के लिये कहीं ये बात

उत्तराखंड मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने देहरादून में कार्यकर्ता प्रशिक्षण शिविर का आज शुभारम्भ किया। भारतीय जनता पार्टी केंद्रीय प्रशिक्षण विभाग की ओर से...

उत्तराखंड- अब रेल यात्रियों को मिल सकेंगी और भी बेहतर सुविधायें, यहां बन सकता है प्रदेश का रेल मंडल मुख्यालय

उत्तराखंड में रेल मंडल मुख्यालय बनाये जाने को लेकर चर्चायें जोरों पर है। इस बात की जानकारी नॉर्दर्न रेलवे मेंस यूनियन के राष्ट्रीय महासचिव...

उत्तराखंड में खेल के क्षेत्र में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है। क्रिकेट, हॉकी, वॉलीबॉल, बैडमिंटन, कराटे जैसा खेल काफी लोकप्रिय है। वही अब स्क्वैश खेल को भी लोकप्रिय बनाने की कोशिश जारी है। इसके लिए सबसे पहली जरूरत है एक कोर्ट की। बता दें कि हल्द्वानी शहर में खेल विभाग ने राज्य का पहला स्क्वैश कोर्ट बना दिया है।

लेकिन इसकी जानकारी काफी कम लोगों को है। बद्रीपुरा स्थित मिनी स्टेडियम में स्क्वैश के लिए तीन कोर्ट बनाए गए हैं। जिनमें अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर के मुकाबले खेले जा सकेंगे। इनका निर्माण उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम ने किया है। लेकिन पूरा बजट न मिल पाने के कारण अब तक निगम द्वारा इस कोर्ट को खेल विभाग को हस्तांतरित नहीं किया गया है।

haldwani stadium squash court

क्या है स्क्वैश कोर्ट की खासियत

स्क्वैश टेनिस की ही तरह ही खेला जाता है। फर्क बस नियमों और गेंद का होता है। स्क्वैश में बीच में कोई नेट नहीं लगा होता है और न ही दोनों तरफ से खिलाड़ी इसे खलते है। इस खेल में प्रतिद्वंदी खिलाड़ी एक ही तरफ होते हैं जो रैकेट के जरिए एक छोटी रबर की गेंद को दीवार पर पटकते हैं। हल्द्वानी में बने इंडोर स्क्वैश कोर्ट की खासियत ये है कि यहां एक कोर्ट खिलाडिय़ों के प्रेक्टिस के लिए भी बनाया गया है।

जबकि दो कोर्ट अंतरराष्ट्रीय मानकों के आधार पर तैयार किये गए हैं। यहां दर्शकों के बैठने का भी स्थान बनाया गया है। जिसमें एक बार में करीब 50 लोग एक मुकाबले का लुत्फ उठा सकते हैं। जिस बिल्डिंग में स्क्वैश कोर्ट बना है उसी के अन्य तल में चार बैडमिंटन कोर्ट, जिम्नेजियम हॉल, एक टेबल टेनिस कोर्ट भी है। जहां खिलाड़ी अपने खेल को और बेहतर बना सकते है।

Related News

उत्तराखंड में विकल्प बन कर उभरी है आप, जानिए आप नेताओं ने उठाए कौन से मुद्दे

किच्छा । आम आदमी के प्रदेश अध्यक्ष एसएस कलेर एवं प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया ने कहा कि आम आदमी पार्टी उत्तराखंड में विकल्प बन...

देहरादून- भ्रष्टाचार पर करारे वार का दंश झेल रहे हैं त्रिवेंद्र,अब सीबीआई करेगी दूध का ढूध पानी का पानी

देहरादून। मामला झारखंड का और दांव पर उत्तराखंड की अस्मिता। जी हां, अजब है पर सच है। झारखंड के एक आधारहीन मसले को उछालकर...

उत्तराखंड- ट्रेन में अकेले सफर करने वाली महिलाओं के लिए रेलवे का फैसला, शुरू किया खास मेरी सहेली मिशन

महिलाओं की सुरक्षा के लिए रेलवे ने बड़ा फैसला लिया है। जिसके तहत रेलवे स्टेशन और ट्रेन में अकेले सफर करने वाली महिला यात्री...

देहरादून- मुख्यमंत्री ने किया भाजपा प्रशिक्षण शिविर का शुभारंभ, राज्य के लिये कहीं ये बात

उत्तराखंड मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने देहरादून में कार्यकर्ता प्रशिक्षण शिविर का आज शुभारम्भ किया। भारतीय जनता पार्टी केंद्रीय प्रशिक्षण विभाग की ओर से...

उत्तराखंड- अब रेल यात्रियों को मिल सकेंगी और भी बेहतर सुविधायें, यहां बन सकता है प्रदेश का रेल मंडल मुख्यालय

उत्तराखंड में रेल मंडल मुख्यालय बनाये जाने को लेकर चर्चायें जोरों पर है। इस बात की जानकारी नॉर्दर्न रेलवे मेंस यूनियन के राष्ट्रीय महासचिव...

उत्तराखंड- छात्रों का इंतजार होगा खत्म, नवम्बर में इस दिन से खुलेंगे डिग्री काॅलेज

लाॅकडाउन के कारण पिछले कई महीनों से बंद डिग्री काॅलेजों को खोलने की तैयारी में अब सरकार जुट गई है। आपकों बता दें कि...