iimt haldwani

हल्द्वानी- इन दो होनहारों को उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय ने दी डी.लिट की उपाधि, ऐसे बढ़ाया देवभूमि का मान

105

Haldwani Open University, उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय में आज पांचवे दीक्षांत समारोह का भव्य आयोजन किया गया। इस खास मौके पर पहुंचे उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य और उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत ने पद्मश्री व पर्वतारोही लवराज सिंह धर्मशक्तु और किसान पण्डित विद्यादत्त शर्मा को डी.लिट की उपाधि दी।

drishti haldwani

haldwani open university news

इसके साथ ही विद्यालय में उत्तीर्ण 22659 छात्र-छात्राओं को डिग्री व पदक प्रदान किये। जबकि 48 छात्र छात्राओं को अनेक विषयों में अच्छा परफॉर्मेंस करने पर स्वर्ण और रजत पदक से नवाजा गया। जिसमें कुलाधिपति स्वर्ण पदक 3 छात्रों को , विश्वविद्यालय स्वर्ण पदक 39 छात्रों को तथा स्मृति स्वर्ण पदक 6 छात्रों को दिये गए।

तीन वर्षों में पांचवां दीक्षांत समारोह

इस अवसर पर उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने कहा कि उत्तराखंड मुख्य विद्यालय का विस्तृत 3 वर्षों में पांचवें दीक्षांत समारोह होना अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि को दर्शा रहा है। यह उम्मीद की जानी चाहिए कि जिस तरह से मुक्त विश्वविद्यालय रोजगार परक विषयों के जरिए छात्र-छात्राओं को आगे बढ़ाने का काम कर रहा है उससे आने वाले समय में हमारी छात्र-छात्राएं उत्तराखंड के लिए अनेक विषयों पर बहुत अच्छा काम करेंगे।

Uttarakhand governer baby rani maurya

वही उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत ने इस मौके पर कहा कि सभी छात्र छात्राएं आने वाले समय में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका इस देश के विकास में निभाएंगे, और समाज के कार्यों में अपना महत्वपूर्ण योगदान देने वाले जिन दो लोगों को मानद उपाधि प्रधान की है उनसे हमारी छात्र-छात्राएं बहुत कुछ सीखेंगे।

700 किलो कचरा एवरेस्ट से किया साफ

मानद उपाधि से सम्मानित होने वाले पद्मश्री लव राज सिंह धर्मशक्तु ने कहा कि यह उनके लिए बहुत ही गौरवशाली पल है कि उनको उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी ने यह सम्मान दिया, लव राज सिंह धर्मशक्तु अभी तक 7 बार एवरेस्ट फतह कर चुके हैं, और करीब 700 किलो कचरा भी एवरेस्ट से उठाकर नीचे लाए हैं। लवराज अभी बीएसएफ में असिस्टेंट कमांडेंट है।

haldwani open university news
जबकि किसानी और पलायन के क्षेत्र में काम करने वाले किसान विद्या दत्त शर्मा ने कहा कि आज के युवाओं को बहुत कुछ सीखने की जरूरत है और वे पलायन और कृषि के क्षेत्र में अपना अहम योगदान देंगे तो उत्तराखंड के लिए समर्पण होगा विद्या शर्मा मूल रूप से पौड़ी जिले के रहने वाले हैं। बता दें कि विद्या दत्त शर्मा के कार्यों पर अधारित उत्तराखंड में बनी शार्ट फिल्म ‘Moti Bagh’ का ऑस्कर पुरस्कार के लिए चयन हो चुका है।