inspace haldwani
Home उत्तराखंड कुमाऊँ हल्द्वानी- बेरोजगारी का सहारा बनी थी दुकान, ऐसे धूं-धूं जलकर हुई खाक

हल्द्वानी- बेरोजगारी का सहारा बनी थी दुकान, ऐसे धूं-धूं जलकर हुई खाक

हल्द्वानी-देर रात जीतपुर नेगी में एक परचून की दुकान जलकर राख हो गई। हादसे में लाखों का सामान जल का स्वाहा हो गया। दुकान जलने की सूचना दुकान स्वामी शेखर आर्या को दुकान के पास रहने वाले लोगों ने दी। सूचना पुलिस को भी दी गई। देर रात फायर बिग्रेड को भी सूचित किया गया। सूचना पर पहुंची फायर बिग्रेड ने आग पर काबू पाया लेकिन तब तक पूरी दुकान जलकर राख हो चुकी थी। बताया जा रहा है कि दुकान में रखे फ्रीज में शॉर्ट सर्किट के चलते ये हादसा हुआ है।

देहरादून-बागेश्वर के ललित जोशी को मिला उत्तराखंड रत्न, इस खास अभियान से कमाया नाम
रामपुर रोड जीतपुर नेगी में स्थित शेखर आर्या पुत्र सुंदर राम की परचून की दुकान में देर रात अचानक आग लग गई। हादसे की जानकारी दुकान के आसपास रहने वाले लोगों ने शेखर के घर बैड़ा पोखरा जाकर उन्हें दी। दुकानस्वामी शेखर के अनुसार हर दिन की तरह वह शाम को दुकान बंद कर अपने घर चले गये। देर रात करीब 2 बजे अचानक उनकी दुकान में आग लग गई। आग लगने की भनक आसपास रहने वाले पड़ोसियों को लगी तो उन्होंने आग बुझाने का प्रयास किया लेकिन आग और भडक़ गई। पड़ोसी ने दुकान स्वामी शेखर को फोन पर सूचना देनी चाही लेकिन उनका फोन नहीं लगा। बाद में दो लोग उनके घर पहुंचे और उन्हें दुकान जलने की सूचना दी।

दुकान में आग लगने की खबर सुनकर शेखर के पैरों तले जमीन खिसक गई। इसके बाद शेखर और उनका भतीजा दुकान की ओर दौड़े। आग लगने की सूचना फायर बिग्रेड को दी गई। दुकान टिनशेड में बनी होने के कारण आग तेजी से भडक़ गई। फायर बिग्रेड के पहुंचने तक पूरी दुकान जलकर राख हो गई। सूचना पर टीपी नगर पुलिस भी मौके पर पहुंची। दुकान स्वामी शेखर ने बताया कि तीन दिन पहले ही वह सामान लेकर आये थे। दुकान में रखा कुल 20 हजार की नकदी थी, जिसमें तीन बिजली के बिल आज भरने के लिए रखे थे और एक बिल भाई का था, दूसरा उनके घर का और तीसरा बिल दुकान पर उनके नाम का था। इसके अलावा दुकान में रखा फ्रिज, पंखा समेत खाने का सामान पूरा जलकर राख हो गया। वही उन्होंने बताया कि करीब तीन लाख का सामान जलकर राख हो गया। आग लगने का कारण शॉट सर्किट बताया जा रहा है।

बेरोजगारी में सहारा बनी थी दुकान

दुकान स्वामी शेखर ने बताया कि शिक्षित होने के बावजूद कही नौकरी नहीं मिली तो उन्होंने दुकान डाली। जिससे वह अपनी रोजी रोटी चला सकें। बस दुकान के सहारे ही उनके परिवार का भरण-पोषण चल रहा था। लेकिन पूरी दुकान जल जाने के बाद उनके ऊपर रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है। ऐसे में सुबह जली हुई दुकान को शेखर निहारते रहे। दुकान को देखकर उनके आंसू छलक उठे। आसपास के लोगों ने उन्हें ढाढ़स बंधाया।

Related News

रामनगर- पहले किया किशोरी का अपहरण फिर दुष्कर्म, गर्भवती हुई तो कराया गर्भपात

रामनगर-कोतवाली क्षेत्र में किशोरी का अपहरण गाजियाबाद ले जाने और उससे दुष्कर्म कर जबरन गर्भपात कराने का मामला सामने आया है। जिसके बाद पुलिस...

रुद्रपुर: युवक को फांसी, मां बाप को कठोर कारावास, यह किया था जुर्म

रुद्रपुर। पॉक्सो न्यायालय ने पाँच वर्षीय मूक-बधिर अबोध बालक के साथ कुकर्म कर उसकी निर्मम हत्या करने वाले आरोपी को हत्या में फाँसी व...

हल्द्वानी-11 साल के भवेश ने यू-ट्यूब बनाया चैनल, इस बारे में जानकारी देकर लूटी वाहवाही

हल्द्वानी-कोरोना काल में कई लोगों ने एक से बढक़र एक काम कर अपना नाम कमाया। युवाओं से लेकर महिलाओं तक ने कई सामाजिक कार्य...

हल्द्वानी-महिला दिवस पर होगी महिला रन फॉर फन रेस, जीतने वाले प्रतिभागियों को मिलेंगी इतनी धनराशि

हल्द्वानी-आगामी 8 मार्च अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर हल्द्वानी में महिला रन फॉर फन रेस व महिला फुटबाल मैच का आयोजन होगा। सभी...

हल्द्वानी-देवभूमि के युवाओं ने किया अनोखा अविष्कार, अब सडक़ हादसों में ऐसी बचेंगी लोगों की जान

हल्द्वानी-प्रदेश में सडक़ हादसे लगातार बढ़ते जा रहे है। अधिकांश मामलों में घायलों को समय पर उपचार नहीं मिल पाता। ऐसी स्थिति में उत्तराखंड,...

नैनीताल-अब एसडीएम साहब की फेसबुक आईडी हुई हैक, परिचितों को भेजे ये मैसेज

नैनीताल-साइबर ठगी के मामले हर दिन बढ़ते जा रहे है। आम आदमी से लेकर खास आदमी तक साइबर ठगी का शिकार बन रहे है।...