iimt haldwani

हल्द्वानी-इस बड़े टप्पेबाजी कांड में शामिल था यहां का पार्षद, पुलिस ने किया खुलासा तो उड़े होश

66

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क-देवभूमि में अपराधों का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है। हर दिन चोरी, लूट, टप्पेबाजी, स्मैक, चरस की बरामदगी हो रही है। अपराधों की जड़ सीधे यूपी से मिल रही है। ऐसा ही एक मामला जसपुर में सामने आया है। यहां एक शिक्षक की स्कूटी की डिग्गी तोडक़र 50 हजार रुपये उड़ा ली गई। इसकी रिपोर्ट शिक्षक ने कोतवाली मेें दर्ज करायी। पुलिस जांच में पता चला की कि टप्पेबाजी गिरोह को संरक्षण देना वाला एक पार्षद है। इस मामले मेेंं नामजद मुरादाबाद के पार्षद समेत पांच टप्पेबाजों का पुलिस ने कोर्ट से गैर जमानती वारंट लिया है। पुलिस जल्द ही टप्पेबाजों को दबोचने के लिए मुरादाबाद जाएगी।

amarpali haldwani

सीसीटीवी से पहुंचे टप्पेबाजों तक

गौरतलब है कि विगत वर्ष 16 अक्टूबर को ग्राम पूरनपुर निवासी सेवानिवृत्त शिक्षक प्रवीण पुत्र गन्नू सिंह ने बैंक ऑफ बड़ौदा की शाखा से 50 हजार रुपये निकाले थे। जिसके बाद उन्होंने रकम को स्कूटी की डिग्गी में दी। इसके बाद वह एक परचून की दुकान पर सामान खरीद रहे थे तभी उनकी स्कूटी का लॉक तोडक़र 50 हजार रुपये निकाल लिए गए। शिक्षक द्वारा कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज खंगाले तो कैमरे में कैद टप्पेबाजों का पता चला। पुलिस ने फुटेज को आसपास के थानों में भेजा। फुटेज में जांच के बाद पता चला कि टप्पेबाज मुरादाबाद की भातू कॉलोनी के रहने वाले है। उनकी पहचान के बाद पुलिस ने गिरोह के सरगना अरुण कुमार पुत्र साजन सिह निवासी आर्दश कॉलोनी
मुरादाबाद को उसके घर से दबोच कर जेल भेजा था।

मुरादाबाद कर पार्षद देता था संरक्षण

वही घटना के दिन सरगना अरुण के साथ उसके मोहल्ले के ही साथी विशाल पुत्र जयवीर, रोहित पुत्र राजकुमार, संदीप पुत्र दीपक, शशि कपूर पुत्र जगमोहन भी थे। मामले के विवेचक देवेंद्र राजपूत ने बताया कि जांच में पाया गया कि मुरादाबाद के पार्षद शिवराज सिह गुज्जर इनको संरक्षण देता था। उसे भी पुलिस ने 120बी का आरोपी बनाया है। राजपूत ने बताया कि आरोपियो की गिरफ्तारी को कोर्ट से गैर जमानती वारंट लिए गए।