drishti haldwani

हल्द्वानी- बदमाशों का ये स्टाईल पुलिस को ऐसे दे रहा चुनौती, डर के साय में क्षेत्रवासी

668

Haldwani Crime news, हल्द्वानी के टीपीनगर चौकी क्षेत्र में लगातार दूसरी बार लाश मिलने से पूरे इलाके में दहशत का माहौल है। क्षेत्रीय लोग डर के साय में जीने को मजबूर है। बता दें कि बीते शुक्रवार को हरिपुर जमनसिंह गांव में एक महिला की सड़ी-गली लाश मिली थी। वही लाश के आस-पास की झाड़ी और लाश जलाई हुई भी प्रतीत हो रही थी। घटना की जानकारी पास में ही बकरी चराने आये बच्चों ने क्षेत्रीय लोगों को दी। जिसके बाद पुलिस को मामले की जानकारी दी गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। जिसकी रिपोर्ट आनी अभी बाकी है।

iimt haldwani

haldwani crime news/

इधर पूरे मामले में पुलिस महिला की शिनाख्त के लिए चौकी में 15 दिन पहले दर्ज गुमशुदगी का सहारा ले रही थी। बाजपुर निवासी दीपा नाम की महिला की गुम होने की रिपोर्ट उसके पति ने टीपी नगर चौकी में लाश मिलने से दो हफ्ते पहले दर्ज कराई थी। इसी बीच हरिपुर जमनसिंह गांव में महिला की लाश मिलने से पुलिस अनुमान लगा रही थी कि यह लाश गुमशुदगी दर्ज महिला की ही है। इसके साथ ही पुलिस शिनाख्त जल्द होने की बात भी कहती नजर आ रही थी। लेकिन एसओ विक्रम राठौर की माने तो जिस गुमशुदगी को पुलिस शिनाख्त का सहारा मान रही थी। उस महिला को पंजाब से सकुशल बरामद कर लिया गया है।

फिल उल्झी पुलिस जांच

बता दें कि इससे पूर्व भी पंचायत घर के समीप एक कंकाल मिला था। जिसका पुलिस अभी तक खुलासा नहीं कर सकी है। पिछले साल एक युवक की मोटाहल्दू रोड पर अधजली लाश मिली थी उसकी भी अभी तक शिनाख्त नहीं हो पायी। वही अब महिला की लाश मिलने से एक बार फिर पुलिस सवालों के घेरे में है। वही गुमशुदा महिला के मिल जाने के बाद पुलिस के लिए महिला की लाश की शिनाख्त एक बड़ी चुनौती बन गई है। पुलिस अधिकारियों की माने तो हरिपुर जमनसिंह गांव में मिली लाश की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर ही कोई सुराग हाथ लग सकेगा। फिलहाल मामले में पुलिस कार्यवाही जारी है।

मित्र पुलिस से दो हाथ आगे बदमाश

ग्रमीण क्षेत्रों में लगातार मिल रही लाश ये साफ दर्शा रही है कि इस तरह की वारदातों को अंजाम देने वाले हमारे शहर की पुलिस से दो हाथ आगे है। इन बदमाशों की योजनायें पुलिस को उलझाने में लगातार सफलता हासिल कर रही है। ये आते है लाश फैकते है और गुम हो जाते है। लेकिन किसी को कानों-कान खबर नहीं होती। वही हमरी मित्र पुलिस शिनाख्त में ही उलझी रह जाती है। तब-तक ये बदमाश एक और चुनौती खेत में पटखकर लोगो की रातों की नींद उड़ा देते है।