iimt haldwani

हल्द्वानी-उलझी-उलझी-सी है ललिता के मौत की कहानी, परिजनों के बयान सुन पुलिस भी हैरान

1313

हल्द्वानी-विगत दिवस मुखानी क्षेत्र के खडिय़ा फैक्ट्री के पास रहने वाली महिला डाक सहायक की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। जिसके बाद उसके रिश्तेदार उसे सुशीला तिवारी अस्पताल में लाये जहां उसे चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। लेकिन बाद में उसके परिजनों के आने का इंतजार होता रहा देर शाम तक परिजन नहीं पहुंचे। वहीं रिश्तेदार भी शव मोचर्री में रखकर चलते बने। रिश्तेदारों को मौत की वजह ठीक से पता नहंी है। जिससे यह केस उलझा-उलझा सा लग रहा है।

drishti haldwani

lalita Tamta Death

विगत दिवस कमरे में मृत मिली थी ललिता

बताया जा रहा है कि 25 वर्षीय ललिता टम्टा पुत्री देवेंद्र टम्टा हल्द्वानी के खडिय़ा फैक्ट्री के पास एक भवन में किराये का कमरा लेकर छोटी बहन तन्नू के साथ रहती थी। एक साल पहले मृतक आश्रित कोटे से पिता जगह उसे नौकरी मिली थी। सोमवार को ललिता की मौत हो गई। रिश्तेदार ललिता की मौत की सही वजह बताने से बचते रहे। वह कभी उसकी मौत दिल का दौरा पडऩे तो कभी बाथरूम में अचेत मिलने की जानकारी देते रहे। आज मेडिकल चौकी प्रभारी कैलाश नेगी ने बताया कि परिजन ललिता की मौत का कारण कुछ अलग बता रहे है। परिजनों का कहना है कि वह ललिता पंखे के कूडे से रस्सी बांध रही थी अचानक रस्सी उसके गले में फंस गई जिससे उसकी मौत हो गई।

एक सप्ताह से गुमसुम थी ललिता

यह बयान पुलिस के गले से भी नहीं उतर रहा है। वही आसपास के लोग भी असंमजस्य में है कि ललिता की मौत आखिर कैसी हुई। उधर डाकघर मेंं कर्मचारियों की माने तो ललिता काफी दिनों से गुमशुम थी। कई बार लोगों ने उससे बात करने की कोशिश की लेकिन वह कुछ जवाब ही नहीं देती थी। उसने अपनी परेशानी किसी साथी से साझा नहीं की। बताया जा रहा है कि एक पखवाड़े से उसका व्यवहार बदला था।