iimt haldwani

हल्द्वानी- सरस मेले में सजेगा 11 राज्यों का बाजार, साथ ही मिलेगा पहाड़ी व्यजनों का स्वाद

317

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क- एमबी इंटर कॉलेज मैदान में 14 जनवरी से 26 जनवरी तक भव्य सरस मेले का आयोजन किया जा रहा है। मेले के बारे में मीडिया के माध्यम से जनता को विस्तार से जानकारी देने के लिए नगर निगम सभागार में जिलाधिकारी विनोद कुमार सुमन तथा मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार ने संयुक्त रूप से पत्रकार वार्ता की। सुमन ने मेले के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि उत्तराखण्ड एवं देश के अन्य राज्यों से राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत स्वयं सहायता समूहों के स्वरोजगारियों एवं शिल्पियों द्वारा अपने उत्पादों के प्रदर्शन एवं विपणन के लिए प्रतिभाग किया जायेगा। उन्होंने बताया कि सरस मेले का उद्देश्य स्वयं सहायता समूहों के द्वारा उत्पादित वस्तुओं, शिल्पों एवं कलाकृतियों के लिए बाजार उपलब्ध कराने, उत्पादों का प्रदर्शन कराने के साथ ही विभिन्न राज्यों के स्वरोजगारियों को एक-दूसरे की कला एवं संस्कृति को जानने समझने एवं सीखने का अवसर प्रदान करने के साथ महिला सशक्तिकरण एवं आजीविका प्रोत्साहन को भी सार्थक करना है।

amarpali haldwani

हर दिन 10 बजे से शुरू होगा मेला

मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार ने बताया कि मेले के प्रतिदिन संचालन की अवधि प्रात: 10 बजे से रात्रि 8 बजे तक रहेंगी। सरस मेले में 11 राज्यों जिसमें आन्ध्र प्रदेश, बिहार, मध्यप्रदेश, हिमांचल प्रदेश, झारखंड, पंजाब, पश्चिम बंगाल, उत्तरप्रदेश, उड़ीसा, कर्नाटक एवं हरियाणा के 32 स्वयं सहायता समूहों एवं उत्तराखण्ड राज्य के 53 एवं जिले नैनीताल के 50 स्वयं सहायता समूहों द्वारा प्रतिभाग किया जा रहा है। साथ ही उत्तराखण्ड राज्य के हस्तशिल्पियों के लिए 25 स्टाल उद्योग निदेशालय, देहरादून द्वारा भी लगाये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि मेले में 20 फूड स्टाल भी लगाये जा रहे हैं। जिनमें विभिन्न प्रान्तों के प्रसिद्ध व्यजनों एवं उत्तराखण्ड के स्थानीय व्यंजनों का स्वाद लिया जा सकेगा।

कई प्रतियोगिता का भी होगा आयोजन

सरस मेले में स्वयं सहायता समूहों द्वारा संचालित इन्दिरा अम्मा भोजनालय की भी व्यवस्था की गई है तथा प्रशिक्षित युवाओं का भी एक फूड स्टॅाल लगाया जायेगा। उन्होंने बताया कि गत वर्ष मेले में 6 अन्य राज्यों द्वारा प्रतिभाग किया गया था जबकि इस वर्ष मेले में 11 अन्य राज्यों द्वारा प्रतिभाग किया जा रहा है। मेले को मनोरंजक, आकर्षक एवं रूचिकर बनाने के लिए मेले में प्रत्येक दिवस दोपहर में स्कूली बच्चों एवं अन्य हेतु चित्रकला, मेंहदी, गायन एवं नृत्य, ऐपण आदि प्रतियोगिताएं आयोजित की जायेंगी तथा सांध्य में 4 बजे से 8 बजे तक सूचना एवं लोक सम्पर्क विभाग एवं शिक्षा विभाग के निर्देशन में रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा।

सीसीटीवी से लैस होगी सुरक्षा व्यवस्था

सरस मेले में सुरक्षा एवं शान्ति व्यवस्था बनाये रखने के लिए जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन, राजस्व विभाग के साथ ही होमगार्ड एवं पीआरडी विभाग के कर्मियों की तैनाती की जा रही है। इसके अलावा मेंला क्षेत्र में पैनी नजर बनाये रखने के लिए तीसरी आंख के तौर पर सीसी टीवी कैमरे की भी व्यवस्था की गई है। इस वर्ष मेले में स्थानीय जनता को कई प्रान्तों के प्रसिद्ध व्यजनों एवं पहाड़ी व्यंजनों का जायका मिलेगा। साथ ही देश के कई प्रान्तों की संस्कृति एवं कला से रूबरू होने का मौका मिलेगा। मेले के सभी कार्यक्रम बिना किसी बाधा के सौहार्द पूर्ण वातावरण में सम्पन्न कराने हेतु मेला समिति प्रतिबद्ध है। इस मौके पर परियोजना निदेशक बालकृष्ण, उप निदेशक सूचना योगेश मिश्रा, अपर परियोना निदेशक संगीता आर्या के अलावा अन्य अधिकारी मौजूद थे।