drishti haldwani

हल्द्वानी- सुशीला तिवारी में डॉक्टरों की अभद्रता का वीडियो वायरल, देर रात डेंगू के मरीज को लेकर आये थे तीमारदार

1362

हल्द्वानी- सुशीला तिवारी अस्पताल में डॉक्टरों की अभ्रदता का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें डॉक्टर एक तीमारदार से उलझते हुए नजर आ रहे है। जिसके बाद सोशल मीडिया पर सुशीला तिवारी अस्पताल के खिलाफ लोगों ने कई कमेंट किये है। लंबे समय से विवादों में रहने वाला एसटीएच फिर चर्चाओं में आ गया। विवादों से एसटीएच का पुराना नाता है। चाहे मरीजों कीमौत को लेकर हो या फिर तीमरदारों से झड़प और हाथापाई। ऐसे मामलों में कुमाऊं का सबसे बड़ा अस्पताल पहले नंबर पर है। मामला देर रात का बताया जा रहा है। जिसके बाद पीडि़त पक्ष के लोगों ने दो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दी।

iimt haldwani

sth

वीडियो बनाने के दौरान हुई झड़प

बताया जा रहा है कि मामला देर रात है। कुछ लोग डेंगू के मरीज को लेकर एसटीएच पहुंचे थे। इस बीच किसी बात को लेकर डॉक्टरों से कहासुनी हुई तो एक युवक ने इसका वीडियो बनाना चाहा। इसके बाद मामला तूल पकड़ गया। एक वीडियो में एक चिकित्सक उस युवक से अभद्रता करते नजर आ रहे है। जिसके बाद युवक वीडियो में कह रहा कि मैंने कोतवाल साहब को फोन किया था। इस बीच पुलिस का एक जवान भी वीडियो में दिख रहा है। लेकन डॉक्टर लगातार युवक पर हावी हो रहे है। युवक भाग रहा है और बोल रहा है कि देखने ये है एसटीएच के डॉक्टरों का असली चेहरा।

वीडियो-https://www.facebook.com/groups/HALON/permalink/2229055473865043/

सफाई को लेकर की थी शिकायत- पीआरओ

इस वीडियो आज सुबह हल्द्वानी के एक ग्रुप में शेयर किया गया। जिसके बाद लोगों ने इस पर अलग-अलग तरह की प्रतिक्रिया दी। इस मामले एसटीएच के पीआरओ आलोक उप्रेती ने बताया कि वीडियो देर रात का है। डेंगू के मरीज ने उल्टी कर दी थी। जिसके बाद तीमारदारों ने उसे साफ करने को कहा तो अस्पताल में सफाई कर्मचारी न होने पर लोग कई तरह की बातें करने लगे। इस बीच मामला बढ़ गया।

dengue

डेंगू से आठ की मौत

बता दें कि नैनीताल जिले में डेंगू से अभी तक 8 लोगों की मौत हो चुकी है। बावजूद इसके डेंगू की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग कोई ठोस कदम नहीं उठा पा रहा है। नगर निगम फॉगिंग के दावे कर रहा है लेकिन डेंगू लगातार अपने पैर पसारते जा रहा है। हल्द्वानी बेस औऱ सुशीला तिवारी अस्पताल में रोजाना नए मरीज भर्ती हो रहे हैं। बता दें कि डेंगू के 51 नए मरीज सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती हैं। जबकि 16 एलाइजा टेस्ट पॉजिटिव मरीज बेस अस्पताल में भर्ती है। हालांकि एसीएमओ ने दावा किया है कि स्वास्थ्य विभाग की टीम जगह-जगह जाकर निरीक्षण औऱ डेंगू के प्रति लोगों को जागरूक कर रही है। बात अगर ग्राउंड के हालातों की करें तो डेंगू पर रोकथाम के लिए जल्द कोई ठोस कदन नहीं उठाया तो हालात बत से बत्तर हो सकते हैं।