PMS Group Venture haldwani

हल्द्वानी-सुखियांचल टूर एंड ट्रेवल्स कंपनी का संचालक दफ्तर में ताला लगाकर लापता, पुलिस ऐसे कर सकती है कार्यवाही

1327

Haldwani News- तिकोनिया कैनाल रोड स्थित सुखियांचल टूर एंड टैवल्स का संचालन अपना कार्यालय बंद का लापता हो गया। खबर सुनते ही टूर पर जाने वाले यात्री और हाल ही में हादसे के बाद दक्षिण भारत यात्रा से लौटे यात्रियों में हडक़ंप मच गया। देखते ही देखते लोग कोतवाली धमक आये। जिसके बाद सुखियांचल टूर एंड टैवल्स के यात्रा की एक बाद एक पोल खुल गई। लोगों को जो सपने दिखाये गये थे, वह सब फर्जी निकले। न तो यात्रियों को ढग़ का खाना खिलाया गया, न ही रहने कीअच्छी सुविधा दी गई। बताया जा रहा है कि भेड़-बकरियों की तरह एक-एक कमरे में दस-दस लोगों को भर दिया गया। लोगों ने कोतवाली पहुंचकर पुलिस से अपने पैसे वापस दिलाने की मांग की।

sukhiyanchal-tour-bus

Slider

यात्रियों के 20 दिन पैसे नहीं लौटाये

विगत दिनों विशाखपट्टम में सुखियांचल टूर एंड टैवल्स की चलती बस में आग लग गई। जिसके बाद यात्री केवल 10 दिन की यात्रा पर लौट आये। उस दौरान टूर संचालक ने यात्रियों से कहा कि उनके 20 दिन के बचे पैसे वापस कर दिये जायेंगे। लेकिन हल्द्वानी पहुंचने के बाद संचालक मुकर गया। लोगों ने उसे फोन किये लेकिन वह फोन उठाने को तैयार नहीं। इसके बाद लोग उसके दफ्तर पहुंचे तो वहां ताला जड़ा था। संचालक फरार हो गया। यात्रा के लिए संचालक ने हर यात्री से 40 हजार लिये थे, रकम डूबने के डर से शुक्रवार को सभी यात्री हल्द्वानी कोतवाली आ धमके और उन्होंने कोतवाल से पैसे दिलाने की मांग करने लगे।

sukhiyanchal-tour-and-travels-haldwani

सपनों के उलट निकली यात्रा

यात्रियों ने कोतवाली में संचालक के खिलाफ तहरीर दी। यात्रा में गये कई लोगों का कहना है कि जिस तरह से उन्हें यहां से सपने दिखाकर दक्षिण भारत ले जाया गया तो वहां उनके सारे सपनों पर पानी फिर गया। खाने और पानी की व्यवस्था बहुत घटिया थी। वही यात्रियों को होटल से काफी दूर उतारा जा रहा था जिससे काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। आयोजक का बर्ताव भी ठीक नहीं था। यात्रियों का यह तक पता नहीं था कि उनका बीमा कराया गया है या नहीं। जिस बस में आग लगी उसे आगे वाली बस में गैस सिलेंडर रखा था। बेहतरीन सुविधा के सपने दिखाकर उन्हें ठगा गया।

पैसे नहीं लौटाये तो होगी कार्यवाही- कोतवाल

लोगों ने कोतवाल संजय कुमार से अपने पैसे दिलाने की मांग की। इस मामले में कोतवाल संजय कुमार ने बताया कि ट्रेवल संचालक को बुलाया जायेगा। यात्रा पूरी नहीं हुई ऐसे में अगर पैसे वापस नहीं होते है तो पुलिस अपनी कार्यवाही करेंगी।

इस मामले में टूर संचालक ने बताया कि मेरे पास कोई पैसा नहीं है जो पैसा था वह हादसे के दौरान जल गया। अगर बीमा कंपनी की ओर से क्लेम की धनराशि मिलेंगी तो लोगों का पैसा दिया जायेगा। लोग बेवजह आरोप लगा रहे हैं। संचालक हरीश कुमार राजौरिया ने बताया कि हादसे में दोनों पति-पत्नी घायल है। वह अपनी पत्नी सुनीता राजौरिया को लेकर बाई एयर वापस लौटे थे बाकि लोग बसों से लौटे। इसलिए ये आरोप लगा रहे हैं।

आँखों से पानी निकलने की समस्या से निजात पाए , ये उपचार अजमाए |

हर उत्तराखंडवासी को मिलेगा 5 लाख का मुफ्त इलाज