drishti haldwani

हल्द्वानी-ऐसे मिलेगा गरीबों को साहूकारों से छुटकारा, त्रिवेन्द्र सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम

258

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क- आज कुमाऊं मंडल के सहकारी बैंकों की समीक्षा बैठक का शुभारंभ उच्च शिक्षा, प्रोटोकॉल, सहकारिता एवं दुग्ध विकास मंत्री डा. धन सिंह रावत ने दीप जलाकर किया। रावत ने घाटे में चल रही शाखाओं की जिलेवार जानकारी लेते हुए कहा कि घाटे में चल रही शाखाओं के प्रबन्धक सूक्ष्म कार्य योजना तैयार करें तथा शाखा को घाटे से ऊपर उठाये जाने के सफल प्रयास करें। उन्होंने कहा कि खाताधारक एवं ग्राहक हमारे लिए भगवान के समान हैं, सभी बैंकर्स अपनी कार्य संस्कृति में सुधार लाते हुए मृदु भाषिता से कार्य करें और नए खाताधारक बनाये जाने के लिए लक्ष्य निर्धारित करते हुए कार्य करें। रावत ने कहा कि सहकारिता बैंक जनता व सरकार के लिए घाटे का सौदा न रहें। सभी बैंकर्स किसानों को एक लाख रूपये तक का ऋण भूमि को बन्धक बनाए बिना ही आरबीआई के नियमानुसार उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि किसानों को ऋण के ब्याज का कारोबार करने वाले दलालों एवं कारोबारियों के पास न जाना पड़े।

iimt haldwani

दस दिन में लगेंगे मोबाइल एटीएम

किसी भी दशा में शाखाओं का एनपीए 5 प्रतिशत से अधिक नहीं होना चाहिए। बैंक के 200 करोड़ रूपये की धनराशि की वसूली के लिए कई पहलुओं का अध्ययन करते हुए वसूली के लिए कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि प्रतिस्पर्धा के दौर में सहकारिता बैंक पीछे न रहे, सहकारी बैंकों को आधुनिकत तकनीकियों से सुसज्जित किये जाने का कार्य किया जा रहा है। सहकारिता बैंक में एटीएम लाये जा रहे हैं, मोबाइल एटीएम की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर प्रत्येक जनपद मुख्यालय में ई-लोबी की स्थापना जायेगी जोकि मिनी बैंक के रूप में कार्य करने में सक्षम है, जिसमें पैसों के आदान-प्रदान के साथ ही इलैक्ट्रोनिक केवाईसी के माध्यम से खाता भी खोला जा सकता है। उन्होंने कहा कि इसी वित्तीय वर्ष में कुमाऊॅ मण्डल के सभी जिलों में एटीएम भी स्थापित किये जा रहे हैं।

450 पदों पर जल्द होगी भर्ती

प्रतिदिन रूपये की आवश्यकता वाले कारोबारियों के लिए माइक्रो फाइनेन्स योजना तैयार करने के लिए तीन अधिकारियों की कमेटी गठित करने के निर्देश दिये। रावत ने ऐसे ऋणी व्यक्ति जिनके घर आपदा में नष्ट हो गए हैं या जिनकी मृत्यु हो गई है, उनके लिए वन टाइम सेटलमेंट की नीति बनाने के भी निर्देश दिये। पण्डित दीन दयाल किसान कल्याण योनजा के अन्तर्गत किसानों को शून्य ब्याज पर ऋण तथा महिला स्वयं सहायता समूहों के लिए शून्य ब्याज दर पर ऋण उलब्ध कराये जाने की योजना प्रस्तावित है। रावत ने कहा कि सहकारी बैंकों में स्टाफ की कमी को दूर करने तथा बेरोजगार युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए 10 दिन के भीतर सहकारी बैंकों रिक्त450 पदों पर भर्ती प्रक्रिया का नोटीफिकेशन जारी कराते हुए भर्ती प्रक्रिया शुरू करायी जायेगी।

परीक्षा के माध्यम से होगा मेधावियों का चयन

उन्होंने कहा कि बैंकों के जीएम तथा अध्यक्षों के देहरादून मीटिंग में आने-जाने में लगभग 40 हजार रूपये खर्च होने के साथ ही समय की भी बर्बादी होती है। धनराशि तथा समय की बचत के लिए भविष्य में सभी मीटिंग वीडियों कॉंन्फ्रेंस के माध्यम से आयोजित की जायेंगी। उन्होंने कहा कि अगले वर्ष से बैंक शाखाओं की समीक्षा वीसी के माध्यम से की जायेगी। को-ऑपरेटिव शिक्षा निधि के अन्तर्गत सहकारिता से जुड़े गरीब किसानों के 50 मेधावियों के लिए एनडीए एवं सिविल सर्विसेज की परीक्षा की तैयारी करायी जायेगी। उन्होंने बताया कि मेधावियों का चयन परीक्षा के माध्यम से किया जायेगा।