drishti haldwani

हल्द्वानी- दिल्ली के निर्भया कांड से जुड़ी इस बात का वरिष्ठ पत्रकार ने ट्विट कर किया खुलासा, कहा बॉयफ्रेंड ने इस काम के लिए पैसे

1017

Delhi Nirbhaya kand, 16 दिसंबर 2012 की वो रात देश के इतिहास के काले पन्नों में दर्ज हो चुकी है। वो रात जब राजधानी दिल्ली में कुछ खुंखार दरिंदो ने एक मासूम को अपनी हवस का शिकार बनाया। निर्भया के साथ हुई दरिंदगी की दास्तां आज भी लोगो के रोंगटे खड़े कर उनको कुछ देर के लिए मौन कर देती है। इस घटना के विरोध में पूरे देश में उग्र व शान्तिपूर्ण प्रदर्शन भी हुए। लेकिन आज 9 साल बाद इस घटना को लेकर एक पत्रकार द्वारा बड़ा खुलासा किया गया है।

iimt haldwani

बता दें कि निर्भया पीड़िता को समाज व मीडिया द्वारा दिया गया नाम है। भारतीय कानून व मानवीय सद्भावना के अनुसार ऐसे मामलों में पीड़ित की पहचान को उजागर नहीं किया जाता। नई दिल्ली में अपने पुरुष मित्र के साथ प्राईवेट बस में सफर कर रही निर्भया के साथ 16 दिसम्बर 2012 की रात में बस के चालक, परिचालक व उनके अन्य साथियों द्वारा पहले भद्दी-भद्दी बातें कही गयीं।

Delhi nirbhaya kand

वही दोनो के द्वारा इसका विरोध करने पर उन्हें बुरी तरह पीटा गया। वही जब उसका पुरुष दोस्त बेहोश हो गया तो युवती के साथ आरोपियों ने बलात्कार करने की कोशिश की। युवती ने उनका विरोध किया परन्तु जब वह संघर्ष करते-करते थक गयी तो उन्होंने पहले तो उससे बेहोशी की हालत में बलात्कार करने की कोशिश की परन्तु सफल न होने पर उसके यौनांग में व्हील जैक की रॉड घुसाकर बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया। पूरे घटना क्रम को आरोपियों ने चलती बस में अंजाम दिया। बाद में वे सभी उन दोनों को एक निर्जन स्थान पर बस से नीचे फेंककर फरार हो गए।

Delhi nirbhaya kand

जहां राहगिरों की नजर पड़ने पर किसी तरह दोनो को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया। वहां बलात्कृत युवती की शल्य चिकित्सा की गयी। परन्तु हालत में कोई सुधार न होता देख उसे 26 दिसम्बर 2012 को सिंगापुर के माउन्ट एलिजाबेथ अस्पताल ले जाया गया जहां उस युवती की 29 दिसम्बर 2012 को मौत हो गई। 30 दिसम्बर 2012 को दिल्ली लाकर पुलिस की सुरक्षा में उसके शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया।

Delhi nirbhaya kand

आज निर्भया इस दुनिया में नहीं है। लेकिन उसके साथ हुई इस दरिंदगी का एक मात्र गहाव उसका मित्र दोस्त है। जिसको लेकर वरिष्ठ पत्रकार अजीत अंजुम ने अपने ट्वीटर अकाउंट पर एक बड़ा खुलासा किया है। दरअसल ये सभी ट्वीट्स निर्भया केस से जुड़े हुए हैं। इन ट्वीट्स में अजीत ने पीड़िता के दोस्त के बारे में खुलासा करते हुए कहा है कि वो हर इंटरव्यू के लिए पैसे लेता था। बता दें कि 16 दिसंबर 2012 को दिल्ली के मुनीरका में 6 लोगों ने चलती बस में पैरामेडिकल की छात्रा ‘निर्भया’ से गैंगरेप किया था। इसके बाद उसे और उसके दोस्त को चलती बस से सड़क पर फेंक दिया गया था। इस गैंगरेप ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था। ऐसे में अब अजीत अंजुम ने इस बारे में करीब 10 ट्वीट्स किए हैं।

क्या कहा अजीत अंजुम ने पढ़े

पहले ट्वीट में अजीत ने लिखा- ‘#Netflix पर देर रात तक #DelhiCrime देखकर विचलित होता रहा। निर्भया रेप कांड पर है ये सीरीज। मुझे याद आ गया निर्भया को वो दोस्त,जो उस गैंगरेप के वक्त उसके साथ बस में था। जो अपनी दोस्त के साथ हुई दरिंदगी का गवाह था। उसके बारे में आज वो सच बताने जा रहा हूं जो आज तक छिपा रखा था।’ वही दूसरे ट्वीट में अजीत ने लिखा- ‘वाकया सितंबर 2013 का है। निर्भया रेप कांड के आरोपियों को फास्ट ट्रैक कोर्ट ने मौत की सजा सुनाई थी। सभी चैनलों पर निर्भया कांड के बारे में लगातार कवरेज हो रहा था। मैं उस वक्त ‘न्यूज 24′ का मैनेजिंग एडिटर था। निर्भया का दोस्त कुछ चैनलों पर उस जघन्य कांड की कहानी सुना रहा था।’

Ajit-Anjum-Avanindra twitter

इसके बाद अजीत आगे लिखते हैं- ‘मैंने भी अपने रिपोर्टर्स को निर्भया के दोस्त को अपने स्टूडियो लाने की जिम्मेदारी दी। कुछ देर में मुझे बताया गया कि उसका दोस्त अपने चाचा के साथ ही स्टूडियो जाता है और इसके बदले हजारों रुपए लेता है। सुनकर पहले तो यकीन नहीं हुआ, उस लड़के पर बहुत गुस्सा भी आया।’ अगले ट्वीट में अजीत ने लिखा- ‘मैं इस बात पर बौखलाया था कि जिस लड़के के सामने उसकी गर्लफ्रेंड गैंगरेप और दरिंदगी की शिकार होकर दुनिया से रुखसत हो गई हो, उसकी दास्तान सुनाने के बदले वो लड़का चैनलों से ‘डील’ कर रहा है। मैं उसको लगातार टीवी पर देख रहा था। मुझे उसकी आंखों में कभी दर्द नहीं दिख रहा था।’

ट्वीट में अजीत ने आगे लिखा- ‘मैंने फैसला किया कि पैसे मांगते और पैसे लेते हुए निर्भया के इस दोस्त का स्टिंग करूंगा और ऑन एयर एक्सपोज करूंगा। उसकी जगह मैंने खुद को रखकर कई बार सोचा। लगातार सोचता रहा। वहशियों की शिकार दोस्त की चीखें जिसके कानों में गूंजी होंगी,वो पैसे ले लेकर चैनलों को कहानी सुनाएगा? मेरे रिपोर्टर ने मेरे सामने बैठकर मोबाइल से उस लड़के के चाचा से बात की. उसने एक लाख लेकर स्टूडियो में आने की बात की। कम करके 70 हजार पर बात तय हुई। मैंने सोचा कि कहीं चाचा तो भतीजे के नाम पर पैसे नहीं ले रहा? मैं चाहता था कि पैसे उस लड़के के सामने दिए जाएं।’

अजीत ने अपने सातवें और आठवें ट्वीट में लिखा- ‘निर्भया के उस ‘दोस्त’ के सामने स्टूडियो इंटरव्यू के लिए 70 हजार दिए गए। खुफिया कैमरे में सब रिकार्ड हुआ, फिर उसे स्टूडियो ले जाया गया। दस मिनट की बातचीत के बाद ऑन एयर ही उस लड़के से पूछा गया कि आप निर्भया की दर्दनाक दास्तान सुनाने के लिए चैनलों से पैसे क्यों लेते हो ? हमने तय किया था कि ये शो पहले रिकार्ड करेंगे। फिर तय करेंगे कि क्या करना है, वो लड़का पैसे लेने की बात से इंकार करता रहा। फिर रिकार्डिंग के दौरान ही उस लड़के को ऑन स्क्रीन ही उसके स्टिंग का हिस्सा दिखाया गया, तब उसके होश उड़ गए। कैमरों के सामने उसने माफी मांगी।’

नौवें और दसवें ट्वीट में उन्होंने लिखा- ‘न्यूज 24 ‘ के स्टूडियो से बाहर आने के बाद मैं खुद उसे जलील करता रहा। मेरा गुस्सा सिर्फ इस बात को लेकर था कि तुम्हारी दोस्त तुम्हारी आंखों के सामने दरिंदगी की शिकार हुई। तुम बच गए। वो मर गई और तुम उस वारदात को सुना -सुनाकर चैनलों से लाखों रुपए कमाने में लगे हो ? दूसरे माले के स्टूडियो से लेकर ग्राउंड फ्लोर तक न्यूजरुम के साथी जमा हो गए थे। सब गुस्से में थे कि कैसा ये लड़का है,जिसने निर्भया की कहानी को कमाने का जरिया बना लिया है। सब चाहते थे तुरंत पूरा शो ऑन एयर हो ताकि हकीकत पता चले, तब तक सभी चैनल उस लड़के का इंटरव्यू दिखा रहे थे।’

इसके साथ ही उस वक्त वो वीडियो शेयर क्यों नहीं किया गया। इस बारे में अजीत लिखते हैं- ‘निर्भया के उस ‘दोस्त’ को मैं जितना सुना सकता था, सुनाया। उस शो को ऑन एयर करके लिए करीब -करीब पूरा न्यूजरूम एक तरफ और मैं एक तरफ। रिकार्डिंग के बाद उसे ऑन एयर नहीं करने का फैसला मेरा था। रिकार्डिंग के बाद मुझे लगा कि कहीं आरोपियों के वकील इसका इस्तेमाल अपने पक्ष में न कर लें।’ वहीं इसके बाद भी अजीत ने कई ट्वीट्स किए और कुछ लोगों के सवालों के जवाब दिए।

अजीत अंजुम द्वारा किये गए इन ट्वीट के बाद एक बार ये मामला तूल पकड़ा दिखाई दे रहा है। लोग सोशल मीडिया में तरह-तरह की बातें कर रहे है। हालाकिं कई कमेंट करके अजीत की इन बातों को गलत भी टहरा रहे है। तो कई इसको सुनकर निर्भया के दोस्त के खिलाफ गुस्सा प्रकट करते नजर आ रहे है।