PMS Group Venture haldwani

हल्द्वानी-साफ-सफाई को लेकर नाराज दिखे पर्यावरण संरक्षण परिषद के उपाध्यक्ष हर्बोला, अधिकारियों को दिये ये निर्देश

182
Slider

हल्द्वानी-पर्यावरण संरक्षण परिषद के उपाध्यक्ष प्रकाश हर्बोला द्वारा सर्किट हाउस काठगोदाम में समस्त नगर निकायों, परिवहन, चिकित्सा, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, उद्योग विभाग की स्वच्छ भारत मिशन के तहत समीक्षा बैठक ली। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों से जनपद में अब तक स्वच्छ भारत मिशन, प्रदूषण, कूड़ा निस्तारण, प्रधानमंत्री आवास योजना, दीनदयाल अन्त्योदय योजना-राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन एवं राजीव आवास योजनाओं की प्रगति की जानकारी ली। इस मौके पर हर्बोला ने कहा कि सभी नगर निगम, नगर पालिका व नगर पंचायत अपने-अपने क्षेत्रो में सॉलिट वेस्ट मैनेजमैन्ट के तहत कूड़ा निस्तारण करें। 600 परिवारों के लिये सॉलिट वेस्ट मैनेजमैन्ट के तहत डोर-टू-डोर कूड़ा एकत्रित करने के लिये एक वाहन निर्धारित किया गया है। शहर को साफ व सुथरा रखने के लिये सम्बन्धित क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों तथा समाज सेवी संस्थाओं का भी सहयोग ले।

Prakash Harbola

Slider

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा पूरे भारत वर्ष को 11 सितम्बर से 02 अक्टूबर तक स्वच्छता के संकल्प को पूर्ण करने के लिये हम सभी को स्वच्छता के क्षेत्र में एक मिशन के तहत जुडऩा होगा, तभी स्वच्छता मिशन को पूर्ण किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि कूड़ा निस्तारण के लिये सम्बन्धित एनजीओ से भी सम्पर्क करें। उन्होंने कहा कि कूड़ा दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है जो कि आने वाले समय में एक विकराल रूप ले सकता है। जिसे हमें मिलकर रोकना होगा। चिकित्सा महकमे के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा चिकित्सा अपशिष्ट के उत्पादन संग्रहरण, प्राप्ति, भण्डारण, परिवहन, उपचार निपटाने के किसी अन्य प्रकार से संबन्धित रिकार्ड रखने के निर्देश दिये। रिकार्ड को किसी भी समय विहित प्राधिकारी और पर्यावरण एवन और जलवायु परिर्वतन मंत्रालय के निरीक्षण और सत्यापन के अधीन होती है। उन्होने कहा कि किसी भी अपशिष्ट को 48 घंटे से अधिक चिकित्सालय परिसर में संचित करना निषेध है।

harbola

उन्होंने सम्बन्धित निकायो के अधिशासी अधिकारियों को प्रधानमंत्री आवास योजना एवं राजीव आवास योजना के अन्तर्गत लक्ष्य के सापेक्ष कम प्रगति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए शीघ्र पूर्ण कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि पत्र लाभार्थियों के आवेदनों का सम्बन्धित अधिकारी परीक्षण के उपरान्त उनका निस्तारण शीघ्र करें। उन्होंने कहा कि कम प्रगति वाले निकाय अपने लक्ष्य को बढ़ाये व आगामी बैठक में प्रस्तुत करें। उन्होंने कहा कि सम्बन्धित मदों में जो धनराशि आवंटित की गयी है उनका समय से सम्बन्धित योजनाओं पर खर्च करें व जो शेष धनराशि बच जाती है उसे शीघ्र शासन को वापस करें। हरर्बोला ने सम्बन्धित अधिकारियो को मानको के अनुरूप योजनाओ का संचालन करने के निर्देश दिये।

हर उत्तराखंडवासी को मिलेगा 5 लाख का मुफ्त इलाज