PMS Group Venture haldwani

हल्द्वानी-रुद्र हास्पिटल एंड नर्सिंग होम पर छापा, लाइसेंस निरस्त कर अस्पताल किया सील

Haldwani News-शनिवार को प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त टीम ने छापेमारी कर कमलुवागांजा रोड पर हनुमान मंदिर के पास रुद्र हास्पिटल एंड नर्सिंग होम में गड़बडिय़ा पकड़ी जिसके बाद अस्पताल को सील कर दिया गया। साथ लाइसेंस भी निरस्त कर दिया गया। खबर के बाद अस्पताल प्रशासन में हडक़ंप मच गया। अस्पताल बिना मानकों के चल रहा था। नर्सिंग होम को अवैध मानते हुए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने सील कर दिया। इसके अलावा जैव चिकित्सा अपशिष्ट प्रबंधन के नियमों का पालन न करने पर 50 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है।

Rudra Hospital

सीएमओ डा. भारती राणा, सिटी मजिस्ट्रेट प्रत्यूष सिंह, सीओ डीसी ढौढियाल, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. अजय कुमार, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (तृतीय) डा. रश्मि पंत की संयुक्त टीम रुद्र हास्पिटल एंड नर्सिंग होम कमलुवागांजा पहुंची। इस दौरान नर्सिंग होम के प्रभारी डॉ. विश्वास मौके पर मौजूद नहीं मिले। टीम ने हॉस्पिटल का निरीक्षण किया तो कई खामियां सामने आई। सीएमओ डा. राणा ने बताया कि हॉस्पिटल द्वारा जैव चिकित्सा अपशिष्ट प्रबंधन 2016 के नियमों का पालन नहीं किया जा रहा था, जिस पर टीम द्वारा हॉस्पिटल पर 50 हजार का जुर्माना लगाया गया है।

इसके अलावा हास्पिटल में मौजूद डा. नरेश नेगी और अन्य कर्मचारियों से पूछताछ की तो कोई भी संतोषजनक जवाब नहीं दे पाया। हॉस्पिटल को जारी अस्थायी लाइसेंस को निरस्त कर दिया गया। टीम ने मौके पर ही हॉस्पिटल को सील कर दिया गया है। संचालक को निर्देश दिए गए कि हॉस्पिटल में अग्रिम आदेशों तक कोई भी चिकित्सा सेवा हॉस्पिटल द्वारा प्रदान नहीं की जाएगी। अगर हॉस्पिटल द्वारा निर्देशों का उल्लंघन किया गया तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। सीएमओ . डा. भारती राणा का कहना है कि रुद्र हास्पिटल एंड नर्सिंग होम के खिलाफ यह कार्रवाई शिकायतें मिलने के बाद की गई है। नर्सिंग होम द्वारा पिछले महीने ही क्लीनिकल इस्टेब्लिशमेंट एक्ट अधिनियम के तहत पंजीकरण कराया था लेकिन इसके नियमों का पालन नहीं किया गया। अगर किसी और अस्पताल या नर्सिंग होम में नियमों की अनदेखी की शिकायत मिलेगी तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

कोरोना पीड़ित संदिग्ध बोला डॉक्टर साहब मेरी जान बचा लो। देखिये अस्पताल में अंदर फिर क्या हुआ। मॉक ड्रिल अस्पताल की।