iimt haldwani

हल्द्वानी-रावत-रावत, भाई-भाई पहले डेनिस अब हिलटॉप आई, सोशल मीडिया पर सरकार की किरकिरी

547

हल्द्वानी-इन दिनों उत्तराखंड में फिर घमासान शुरू हो गया है। यह घमासान राजनीति से लेकर सोशल मीडिया पर युवाओं के बीच चल रहा है। यह घमासान किसी और मुद्दे पर नहीं बल्कि देवभूमि में नये शराब के नाम को लेकर है। प्रदेश सरकार द्वारा देवप्रयाग में शराब की फैक्ट्री खोले जाने के बाद प्रदेश भर में शराब के खिलाफ तरह-तरह के कमेंट आ रहे है।

drishti haldwani

वही विपक्षी दल कांग्रेस को सत्ताधारी भाजपा को घेरने का एक बड़ा मौका मिल गया। जब कांग्रेस सरकार में इस प्रोजेक्ट को आगे बढ़ाने की बात आयी तो भाजपा ने सडक़ों पर उतरकर इसका खुलकर विरोध किया लेकिन अब खुद हिलटॉप को मैदान में उतार दिया। ऐसे में कांग्रेस के एक प्रवक्ता ने कहा कि हम करें तो पाप, भाजपा करें तो पुण्य।

latter Wine Devpryag

युवाओं ने सोशल मीडिया पर जमकर कोसा

इसके अलावा सोशल मीडिया पर युवाओं ने सरकार को जमकर कोसा है। उन्होंने रोजगार बंद और देवभूमि में शराब का नया नाम हिलटॉप। इसके अलावा युवाओंं ने पिछली सरकार में सीएम रहे हरीश रावत द्वारा डेनिस शराब और भाजपा सरकार में सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत द्वारा हिलटॉप शराब पर तरह-तरह के कमेंट किये है। लोगों ने रावत-रावत भाई-भाई करार दिया। एक डेनिस तो दूसरा हिलटॉप लाया। हिलटॉप शराब के आने सरकार की प्रदेशभर में जबर्रदस्त किरकिरी हो रही है।

facebook harish Rawat

हिलटॉप से मचा प्रदेश में बवाल

हिलटॉप शराब को लेकर पूर्व सीएम हरीश रावत ने भी सोशल मीडिया पर अपनी दिल की बात लिखी।अपने ट्वीट में हिन्दी और कुमाऊंनी में एक संदेश जनता के नाम लिख हरीश रावत ने पूछा कि जब वह अपने कार्यकाल में फलों, सागसब्जियों की एल्कोहल युक्त फ्ूटी बनाने के लिए बात कर रहे थे तब खूब विरोध हुआ था। अब जब धर्मनगरी देवप्रयाग के हिल टॉप में व्हिस्की परोसने के प्रोजेक्ट पर सरकार काम कर रही है तो अब सब क्यों खामोश हैं। देवप्रयाग के हिल टॉप में शराब फैक्ट्री लगाने को लेकर कांग्रेस ने भी सवाल खड़े किए हैं। रावत के सोशल मीडिया की पोस्ट पर लोगों ने कई कमेंट कर दिये। किसी ने हरदा को सही बताया तो किसी ने कहा आप डेनिस लाये वो हिलटॉप, बस यही देखना था उत्तराखंड के लोगों ने। कुल मिलाकर हिलटॉप ने बखेड़ा खड़ा कर दिया।