iimt haldwani

हल्द्वानी-(छापेमारी)-सर मुझे पता नहीं स्टोर में दवाई है, डीएम के छापे से ऐसे खुली डॉक्टरों की पोल

1085

हल्द्वानी- आज सुबह से जिलाधिकारी ने बेस अस्पताल में छापेमारी की। यह कार्यवाही लंबी चल रही है। बेस अस्पताल में हुई अचानक छापेमारी में कर्मचारियों व डॉक्टरों में हडक़ंप मच गया। इस दौरान अस्पताल में कई खामियां नजर आयी। चिकित्सकों ने मरीजों की पर्चियों पर बाहर सेे दवाई लिखी थी। बेस अस्पताल के डॉक्टर सीएस भट्ट की बाहर की दवाइयों की लिखी पर्चियां जिलाधिकारी बंसल ने वार्ड में मौजूद मरीजों से बरामद की तो डीएम बंसल का पारा चढ़ गया।

drishti haldwani

DM Savin Bansal

हल्द्वानी-DM बंसल की ताबड़तोड़ छापेमारी, इस अस्पताल में मिली कई खामियां

बाहर से लिखी थी दवाई

जिलाधिकारी ने डॉक्टर भट्ट को प्रतिकूल प्रविष्टि जारी की। बाहर से दवाइयां लिखना प्रतिबंधित है जबकि स्टोर में दवाइयां उपलब्ध हो पाएगी। डॉक्टर का कहना है कि कि मरीजों के अनुरोध पर उन्होंने बाहर की दवाई लिखी है, डॉक्टर किस बात को जिलाधिकारी ने सिरे से नकार दिया। वही स्टोर में दवाई उपलब्ध थी। जिसके बाद का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। इस बीच डॉक्टरों ने अपने को बचाने के लिए स्टोर में दवाईयों की जानकारी न होने की बात की। बता दें कि लंबे समय से बेस अस्पताल के डॉक्टर बाहर से दवाईयां लिख रहे है जबकि सारी दवाईयां अस्पताल में मौजूद है लेकिन कमिशन के फेर में यह डॉक्टरों का धंधा बन चुका है।

कई पर ठोंका जुर्माना

वही जिलाधिकारी ने सफाई व्यवस्था देखी तो फिर नाराज हो गये। शौचालय में गंदगी देख डीएम भडक़ उठे। उन्होंने सफाई ठेकेदार पर 20 हजार का जुर्माना ठोंक दिया। इसके अलावा जहां खाना बनता है वही भी सफाई के हालात ऐेसे ही थे। जिसमें पर डीएम ने 5 हजार का जुर्माना भरने को कहा। अचानक हुई छापेमारी से अस्पताल प्रशासन में हडक़ंप मच गया। इस दौरान कई डॉक्टर नदारद मिले। तो डीएम ने उनकी एक दिन का सैलरी कटाने के निर्देश दिये।