हल्द्वानी-राधा और अपर्णा हत्याकांड में शामिल बदमाश की इस हाल में हुई मौत, जेल में बंद था ये डकैत

Slider

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क-विगत साल हल्द्वानी के पंचायत घर में हुए राधा हत्याकांड और रुद्रपुर में हुए अपर्णा हत्याकांड के बाद लाखों की डकैती से पुलिस की नींद उड़ाने वाले डकैत की कल रविवार को एसटीएच में इलाज के दौरान मौत हो गई। कैदी की मौत से जेल प्रशासन में हडक़ंप मच गया। जेल प्रशासन ने कैदी की मौत की रिपोर्ट प्रशासन व आला अधिकारियों को भेज दी है। आज बदमाश का पोस्टमार्टम किया जायेगा। इन हत्याकांडों और लूट की घटनाओं ने दो जिलों में सनसनी फैला दी थी। लोगों को अपने घर में रहना भी डर लग रहा था। इसके बाद ऊधमसिंह नगर पुलिस ने इन दो हत्याकांडों से जुड़े मारवाड़ी गिरोह के छह डकैतों को गिरफ्तार किया था।

Slider

 

मारवाड़ी गिरोह में था शामिल

गौरतलब है कि बीते साल हल्द्वानी के पंचायत घर में कोचिंग संचालक भुवन भट्ट को अधमरा व पत्नी राधा की हत्या कर लूटपाट की गई। इसके बाद बदमाशों ने एफसीआइ कर्मचारी नरेश चौहान को बंधकर बनाकर लाखों रुपये व सामान की लूट की फिर सर्वेश्वरी कालोनी निवासी पंकज श्रीवास्तव के घर लूट कर पंकज को अधमरा कर दिया और उनकी पत्नी अपर्णा की हत्या कर दी। इन घटनाओंं के बाद दो जिले ही नहीं डकैत के ताडंव से पूरा प्रदेश हिल गया। ये हत्याकांड पुलिस के लिए सिरदर्द और चेलेंज बन गये थे। हालांकि ऊधमसिंह नगर पुलिस ने अपर्णा हत्याकांड का खुलासा किया लेकिन राधाकांड में सिर्फ दो मुखबिरों की बरामदगी दिखाई नैनीताल पुलिस ने पल्ले झांड़ लिया।

पेट में हुआ था दर्द

मारवाड़ी गिरोह में शामिल छह डकैतों में से उत्तरप्रदेश के ग्राम मिल्किया, निगोही, शाहजहांपुर निवासी सूरज पुत्र टेकराम भी हल्द्वानी उपकारागार में बंद था। बताया जा रहा है कि सूरज काफी समय से बीमार चल रहा था। पांच दिन पहले उसका बेस अस्पताल ले जाकर उपचार भी कराया गया था। रविवार की दोपहर करीब साढ़े 12 बजे अचानक सूरज के पेट में तेज दर्द उठा। जिस पर जेल कर्मी उसे लेकर एसटीएच गए। एसटीएच में चिकित्सकों ने सूरज को मृत घोषित कर दिया। सूरज के परिजनों के आने पर सोमवार को शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें