iimt haldwani

हल्द्वानी- तो क्या सीबीआई से भी नहीं सुलझ पाया चर्चित पूनम हत्याकांड, जाने अखिर क्यूं जांच में लगा “फुल स्टाप”!

78

हल्द्वानी- न्यूज टुडे नेटवर्क: नगर के चर्चित पूनम हत्याकांड में सच्चाई सामने लाने के लिए सीबीआई ने हत्या से जुड़े तथ्यों की जांच शुरू तो की, लेकिन अंजाम तक नहीं पहुंच सकी। ज्ञात हों वर्ष 2018 में 27 अगस्त की रात को हल्द्वानी के मंडी चौकी क्षेत्र के गोरापड़ाव स्थित एक घर में पूनम और उसकी बेटी पर अज्ञात लोगो द्वारा धारदार हत्यार से हमला कर दिया गया था। जिसमें ट्रांसपोर्टर लक्ष्मी दत्त पांडेय की पत्नी पूनम पांडेय की मौत हो गई। जबकि उसकी बेटी गंभीर रूप से घायल हो गई थी। जिसके बाद पुलिस द्वारा हत्या का खुलासा जल्द करने की बात कही गई थी। जबकि पूर्ण खुलासे के लिए पुलिस ने जांच जारी होने की बात कही थी। लेकिन घटना को लगभग आठ माह बीतने के बाद भी कातिलों का कोई अता-पता नहीं है। वही मामले में लंबा समय बीतने के कारण कही-कही ना जांच में फुल स्टाप लगता नजर आ रहा है।

amarpali haldwani

14 दिनों में आनी थी नार्को रिपोर्ट

बता दें कि 31 जनवरी को रुद्रपुर में सीबीआई द्वारा हत्याकांड से जुड़े तीन लोगो का नार्को टेस्ट कराया गया था। जिसमें पूनम की बेटी भी शामिल थी। वही कहा जा रहा था कि नार्को टेस्ट के बाद हत्याकांड की उलझी कड़ी सुलझ जाएगी और कातिलों का पर्दाफाश हो जाएगा। मामले में सीबीआई द्वारा 30 जनवरी को भी तीनों से 25 सवालों के जवाब पूछे गए थे। जिसके बाद 14 दिन बाद यानी 14 फरवरी को सीबीआई की नार्को रिपोर्ट आनी थी। लेकिन आज 26 अप्रैल तक भी रिपोर्ट का कोई पता नहीं है। इधर पूनम के कातिल हत्या जैसे संगीन अपराध को अंजाम देने के बाद भी पुलिस गिरफ्त से बहार है।