iimt haldwani

हल्द्वानी- चर्चित पूनम हत्या कांड में जाने क्या है एसआईटी की नई रिपोर्ट, कातिलों का कैसे लगाया जा रहा पता

2933

हल्द्वानी- न्यूज टुडे नेटवर्क: नगर के चर्चित पूनम हत्याकांड में दो माह बाद भी कातिल पुलिस के हाथों से फरार है। मामले में हाईकोर्ट द्वारा जांच एसआईटी को सौपी गई है। हत्यारों को दबोचने के लिए एसआईटी और पुलिस टीमें लगातार प्रयास कर रही है। जानकारी मुताबिक हत्याकांड में एसआईटी पिछले 24 घंटे से एक युवती से पूछताछ कर रही है। पूछताछ के दौरान पुलिस के हाथों अहम सुराग लगने की बात सामने आरही है। इधर देर रात युवती के परिजनों ने कोतवाली पहुंच कर हंगामा भी किया। उनका कहना था कि पुलिस उससे बेवजह पूछताछ कर रही है। बहरहाल युवती से एसआईटी की पूछताछ जारी है।

drishti haldwani

यह भी पढ़े..   हल्द्वानी-( वार्ड नंबर 20) पिता के कामों का बेटे को मिल रहा फायदा, गली-गली, घर-घर पहुंचे उमेश गुप्ता

दो माह तक नहीं मिले हत्यारें

बता दें हत्याकांड में खुलासे को लेकर पुलिस ऐड़ी चोटी का जोर लगाए हुए है। बावजूद इसके लंबे समय बाद भी हत्यारों का कोई सुराग न मिल पाना कहीं न कहीं पुलिस कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े कर रहा है। हालाकिं कुछ समय पहले पुलिस गुनहगारों का सुराग मिलने का दावा कर रही थी। इतना ही नहीं मामले को सुलझाने राजधानी देहरादून से पुलिस के आला अधिकारियों ने हल्द्वानी प्रस्थान किया था। इन सब के बाद भी एसआईटी व पुलिस टीमें कोई ठोस सबूत अभी तक जुटा पाने में नाकाम साबित रही है।

यह भी पढ़े… हल्द्वानी-(वार्ड नंबर 48) पति के विकास कार्यों का गीता बल्यूटिया को मिल रहा फायदा, पढिय़े क्या है गीता के भविष्य के प्लान

यह भी पढ़े… हल्द्वानी-(निकाय चुनाव) ना मुझे पब्लिक भूली और ना हम पब्लिक को भूलें- मो. गुफरान

आखिर क्या है पूरा मामला

ज्ञात हो मंडी पुलिस चौकी क्षेत्र में आने वाले गोरापड़ाव चौराहे से कुछ ही दूरी पर रहने वाले लक्ष्मी दत्त पांडे की पत्नी पूनम पांडे व पुत्री अर्शा पांडे पर हमलावरों ने 27 अगस्त की रात हमला कर दिया था। जिसमें पूनम की मौत हो गई थी, जबकि अर्शी बुरी तरह घायल हो गई थी। मामले की जांच एसटीएफ को सौंपी गई, लेकिन वह भी इसका खुलासा नहीं कर पाई। बाद में हाईकोर्ट के निर्देश पर एसआईटी को जांच सौंपी गई। इस बीच अर्शी का एक वीडियो अस्पताल से वायरल हुआ जिसमें वह अंकित के अलावा निहारिका व प्रियंका के नाम स्पष्ट रूप से लेती सुनाई दे रही थी। इस मामले में पुलिस सैकड़ों लोगों से पूछताछ कर चुकी है। लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लगा है। इधर इस मामले में बीते दिवस एसआईटी ने आवास विकास की एक युवती को हिरासत में लिया है। उससे गहनता से पूछताछ की जा रही है। पिछले 24 घंटे से लगातार पूछताछ करने से माना जा रहा है कि इस मामले में पुलिस के हाथ कुछ अहम सुराग लगे हैं।