drishti haldwani

हल्द्वानी-ओवेरियन सिस्ट होम्योपैथिक उपचार, जानिये साहस हौम्योपैथिक क्लीनिक के चिकित्सक डा. एनसी पाण्डेय से

156

हल्द्वानी- साहस हौम्योपैथिक क्लीनिक के चिकित्सक डा. एनसी पाण्डेय ने इस बार (Ovarian Cyst) ओवेरियन सिस्ट की बीमारी के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि ओवरी सिस्ट या अंडाशय में सिस्ट महिलाओं के अंडाशय में बनने वाले सिस्ट होते हैं जो बंद थैली नुमा (सपाम) आकृति से होते हैं । इनके अंदर तरल पदार्थ भरा होता है। अंडाशय महिलाओं की प्रजनन प्रणाली (बच्चा पैदा करने) का हिस्सा होते है, यह गर्भाशय के दोनों तरफ पेट के निचले हिस्से में होते हैं। इनकी संख्या 2 होती है जो अंडे के साथ ही साथ एस्ट्रोजन और प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन का निर्माण करते हैं।

iimt haldwani

इसका वीडियो उनके यू-ट्यूब चैनल साहस हौम्योपैथिक चैनल पर देख सकते है। उन्होंने बताया कि अंडाशय सिस्ट (ओवरी सिस्ट) के तब तक कोई लक्षण या संकेत नहीं दिखते जब तक वह अधिक बड़े ना हो जाए अधिकतर ओवरी सिस्ट कैंसर का कारण नहीं होते हैं। परंतु, इसका उपचार कराना बहुत जरूरी होता है। उन्होंने बताया कि पेट में दर्द होना, पेट में सूजन होना, अपच होना, कमर का आकार बढऩा, पेट के निचले भाग ओवरी में तेज दर्द होना, कभी-कभी उल्टी व गैस बनना, अनियमित महावारी होना, वजन घटना ओवरी सिस्ट कई प्रकार के हो सकते हैं या तो आपको अल्ट्रासाउंड द्वारा पता चल सकता है। एलोपैथिक में सिस्ट छोटी हो या बड़ी इसका एक निदान है ऑपरेशन परंतु, होमियोपैथी में आप इसे दवाई द्वारा भी ठीक कर सकते हैं ।