हल्द्वानी- अब वन विभाग लगाएगा जंगलों में ड्रोन कैमरे, होगी हाथी सहित बाकी जानवरों की गणना

Slider

हल्द्वानी-प्रदेश में मानव-वन्य जीव संघर्ष के मामले अक्सर सामने आते रहते है। अभी हाल ही में कुछ दिन पहले केरल में एक मादा हाथी को कुछ लोगों द्वारा अनानास में विस्फोटक पदार्थ डालकर खिला दिया गया था जिसकी वजह से गर्भवती मादा हथिनी की जान चली गई थी। इससे निराश व सख्त होकर वन विभाग द्वारा एक सराहनीय कदम उठाया जा रहा है। बता दें कि वन विभाग द्वारा जंगलों में ड्रोन कैमरे लगाकर हाथियों की गणना व जानकारी लेने का प्लान बनाया जा रहा है। जो कि कई हद तक ठीक भी है। वन विभाग का कहना कि प्रदेश में कहां पर कितने हाथी है कोई नही बता सकता। इसकी गणना अब से ड्रोन के माध्यम से की जाएगी।

forest in elephant

Slider

जानकारी के अनुसार वन विभाग द्वारा 5 साल पहले 2015 में हाथियों की गणना की गई थी तब गढ़ना के अनुसार प्रदेश में कुल 1797 हाथी मिले थे। ड्रोन के माध्यम से की जा रही यह गणना करीब तीन चरणों में अब से हाथियों की गढ़ना करेगी। इस गणना में वन विभाग काॅर्बेट टाइगर रिजर्व पार्क व राजाजी टाइगर रिजर्व पार्क के साथ ही प्रदेश के 15 डिवीजनों को शामिल करेगा और हर डिवीजन में बीट स्तर पर ड्रोन से गणना की जाएगी। इसकी जिम्मेदारी बीट अधिकारियों व स्थानीय वालिंटरों को सौपी जाएगी। इसके लिए विभाग द्वारा 15 ड्रोन उपयोग में लाए जाएंगे। वन विभाग द्वारा ऐसा करने से न सिर्फ हाथियों की गणना का पता चलेगा बल्कि हाथियों के आने जाने के विषय में भी महत्वपूर्ण जानकारी मिलेगी।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें