हल्द्वानी-अगर गर्दन दर्द से आप हैं परेशान तो डॉ. एनएसी पाण्डेय से जानिये हौम्योपैथिक उपचार

Slider

हल्द्वानी-सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस गर्दन के आसपास के मेरुदंड की हड्डियों की असामान्य बढ़ोतरी और सर्विकल के बीच कशानो, कैल्शियम का डी जनरेसन और अपने स्थान से सरकने की वजह से होता है। यह दर्द गर्दन से शुरू होकर हाथों तक जाता है। लगातार लंबे समय तक कंप्यूटर या लैपटॉप पर बैठकर काम करना या लंबे समय तक गर्दन झुकाकर बैठे रहने से यह समस्या होती है। इसका दर्द इतना तेज होता है कि रोगी व्याकुल हो जाता है। यह जानकारी साहस होम्योपैथिक के चिकित्सक डॉ. एनएसी पाण्डेय ने दी।

Slider

डॉ. एनएसी पाण्डेय ने बताया कि गर्दन में तेज दर्द जो कंधों व हाथों तक हो जाती है, गर्दन में अकडऩ, सिर को हिलाने में परेशानी, सिर में तेज दर्द, जी मचलना, उल्टी आना, चक्कर आना, मांसपेशियों में ऐंठन, हाथों में सुन्नपन आदि लक्षण हो सकते हैं। इसलिए मेरे साथ हरीश पाठक ने भी इस गंभीर समस्या से छुटकारा पाने हेतु कुछ आसान व्यायाम बताएं हैं। आप होमियोपैथी दवाई के साथ ही साथ इन व्यायामों को आराम से शुरू करके करें। आपको इससे सभी लक्षणों से छुटकारा मिल जाएगा।

Dr. NC Pandeyगौरतलब है कि साहस होमियोपैथी, वरिष्ठ होमियोपैथी डॉ. नवीन चन्द्र पाण्डेय द्वारा होमियोपैथी पद्धति से विभिन्न रोगों के उपचार की जानकारी देने के लिए बनाया एकमात्र अधिकृत यू-ट्यूब चैनल हैं। डॉ. पाण्डेय विभिन्न रोगों से उपचार के लिए होमियोपैथी प्रणाली की दवाइयों का परामर्श देते हैं। उन्होंने बताया कि आप योग्य चिकित्सक की सलाह के अनुसार दवा लेते हैं। तब होमियोपैथी दवाए निश्चित मात्रा में लेने पर, शरीर पर बिना विपरीत प्रभाव डाले, प्रकृति से साथ मिलकर रोगों से उपचार की प्राचीन, विश्वसनीय और प्रभावी चिकित्सा प्रणाली हैं।

दवाओं का सेवन बताई गयी विधि और मात्रा में ही करें। आप किसी अन्य बीमारी से ग्रस्त हैं तो दवाओं का उपयोग करने से पूर्व अपने निकटतम विश्वसनीय हौम्योपैथिक विशेषज्ञ से जरुर परामर्श कर लें।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें