PMS Group Venture haldwani

हल्द्वानी-नवरात्र से ठीक पहले मार्केट में आया ये कुमाऊंनी भजन, इस लोकगायक ने दी है आवाज

835

हल्द्वानी- Uttarakhandi Songs लोकगायक दीवान सिंह मेहरा Folk Singer Dewan Singh Mehra का एक कुमाऊंनी भजन रिलीज हुआ है। इस भजन को लोगों ने खूब सराहा है। नवरात्रि के ठीक पहले एजा मेरी दुर्गे मैया भजन ने लोगों का दिल जीत लिया। यह भजन उनके अपने चैनल डीएस म्यूजिक उत्तराखंडी रिलीज हुआ है। इस भजन को लिखा है हास्य कलाकार शिबू रावत ने, जो उत्तराखंड में अपनी पहाड़ी कॉमेडी से लोगों के बीच छाये है। लोकगायक दीवान सिंह मेहता के इससे पहले भी कई कुमाऊंनी गीत गा चुके हैं।

Slider

लोकगायक दीवान सिंह मेहरा ने बताया कि वह मूलरूप से महरखोला सनण (जालली) अल्मोड़ा के रहने वाले है। बचपन से ही लोक गीतों के प्रति उनकी रूचि थी। आगे चलकर उन्होंने गायकी में अपना कदम रखा। उनकी सबसे पहली एलबम तल सल्ट हरहिता आयी जिससे उन्हें पहचान मिली। इसके बाद उन्होंने राधिका तेरो मीठ बुलाना से लोगों का दिल जीता। फिर उन्होंने सरू तू मेरी प्राणी, गोविंदी, चल गोरी, डीजे दगड़ से खूब धूम मचाई। आज उनके चैनल से एजा मेरी दुर्गे मैया भजन रिलीज हुआ जिसे लोगों ने खूब पसंद किया। शीघ्र उनके नये गीत लोगों को सुनने को मिलेेंगे।

हल्द्वानी में मिला पहला मौका

लोकगायक दीवान सिंह मेहरा ने बताया कि उन्हें प्रोग्राम में गाने का पहला मौका वर्ष 1997 में मिला। जहां उन्होंने सुर सम्राट स्व. गोपाल बाबू गोस्वामी जी का गीत कैले बजै मुरूली गाया। जिससे उन्हें आगे बढऩे का मौका मिला। इसके बाद दिल्ली जाकर उन्हें कई सांस्कृति मंचों पर गाने का मौका मिला। धीरे-धीरे उन्होंने अपनी एलबम निकाली शुरू की कि तो लोगों ने उन्हें खूब पसंद किया। दिल्ली में रहकर पहाड़ के प्रति उनका प्यार और ठेठ पहाड़ी भाषा में बात करना यह दर्शाता है कि उन्हें पहाड़ के प्रति कितना लगाव है। उन्होंने कहा कि वह उत्तराखंड की संस्कृति को बचाये रखने के लिए अपने गीतों के माध्यम से लोगों को जागरूक करते रहेंगे।

हर उत्तराखंडवासी को मिलेगा 5 लाख का मुफ्त इलाज