drishti haldwani

हल्द्वानी-मॉडलिंग के क्षेत्र में नाम कमा रही हल्द्वानी की बेटी, पहाड़ की बेटियों को दिया ये संदेश

1624

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क-(जीवन राज)-देवभूमि में एक के बाद एक प्रतिभाएं सामने आ रही है। आज हर क्षेत्र में देवभूमि की बेटियां अव्वल है। सेना, सौंदर्य, बॉलीवुड, खेलों समेत कई क्षेत्र में देवभूमि की बेटियां देशभर में नाम कमा रही है। इसी क्रम में एक और नया नाम जुड़ चुका है यशी पाठक का। बचपन से ही डांसिंग और एक्टिंग के शौक ने यशी पाठक को मॉडलिंग की दुनियां में खींचा। अब वह दिल्ली में रहकर मॉडलिंग कर रही है। यशी पाठक मूलरूप से हल्द्वानी की रहने वाली है। मात्र 19 वर्ष की उम्र में यशी ने अपनी सौंदर्यता के दम पर उन्होंने मॉडलिंग की दुनियां में लोहा मनवाया है। वह मॉडलिंग से देशभर में देवभूमि का नाम रोशन कर रही है।

iimt haldwani

कई सौंदर्य प्रतियोगिताओं में ले चुकी है हिस्सा

न्यूज टुडे नेटवर्क से खास बातचीत में यशी पाठक ने बताया कि वह हल्द्वानी की रहने वाली है। उनकी माता का नाम शालिनी पाठक व पिता का नाम रजनीश पाठक है। वर्तमान में वह दिल्ली में रहकर मॉडलिंग के क्षेत्र में कार्य कर रही है। वह बी.कॉम द्वितीय वर्ष की छात्रा है। मॉडलिंग के क्षेत्र में काम करने वाली वह उत्तराखंड की सबसे कम उम्र की मॉडल है। उन्होंने वर्ष 2018 से मॉडलिंग की दुनियां में कदम रखा। वह कई सौंदर्य प्रतियोगिता में हिस्सा ले चुके है। मॉडलिंग के अलावा वह एक्टिंग व डासिंग भी करती है। वह बालाजी टेलीफिल्मस से जुड़ी है। वही दिल्ली में मॉडलिंग के क्षेत्र में नाम कमा रही है।

 

पहाड़ की बेटियां हर क्षेत्र में अव्वल- यशी

यशी पाठक ने बताया कि आज बेटियां हर क्षेत्र में आगे है। देवभूमि में महिलाओं को पूरा सहयोग और सम्मान मिलता है। उन्होंने पहाड़ के माता-पिता को संदेश देते हुए कहा कि आपके बच्चे जिस क्षेत्र में जाने चाहते है। उन्हें जाने दीजिए। उन्होंने कहा कि कई बार हम बच्चों को अपने स्वार्थ के लिए दूसरे क्षेत्र में भेजन की कोशिश करते है। ऐसे में उनका भविष्य अंधकार में चले जाता है। उन्होंने कहा कि पहाड़ की बेटियां हर क्षेत्र में अव्वल हैै। ऐसे माता-पिता के लिए उन्होंने कहा कि बेटियों को आगे बढ़ाये। बेटी है तो कल है और आने वाला समय भी बेटियों का ही होगा। देवभूमि से उनका एक अलग ही नाता है। वह आगे चलकर इसी क्षेत्र में उत्तराखंड का नाम रोशन करना चाहती है।