हल्द्वानी- प्रवासियों के खाते में 5 हजार डाले सरकार, ग्राम प्रधानों और प्रवासियों के पक्ष में नेता प्रतिपक्ष ने उठाई ये आवाज

Slider

हल्द्वानी-आज नेता प्रतिपक्ष इंद्ररा हृदयेश ने कहा कि लॉकडाउन का चौथा चरण शुरू हो चुका है। लोग परेशान है। आम जनता के साथ सबसे ज्यादा मार प्रवासियों पर पड़ी है। लोग अपने खर्चे से गांव की ओर आ रहे है। उनके पास पैसे खत्म हो चुके है। सरकार कम से कम हर प्रवासी को 5000 की धनराशि दे। जिससे वह अपना गुजर-बसर कर सकें। उन्होंने कहा सरकार ने प्रवासियों की जिम्मेदारी ग्राम प्रधानों को सौंप दी है लेकिन उनकी किसी तरह की मदद तक नहीं की। प्रधान अपने जेब से धन खर्च कर प्रवासियों के लिए क्वारंटाइन सेंटरों की व्यवस्था कर रहे है।

Slider

उन्होंने कहा कि जिन पंचायतों घरों, स्कूलों या फिर भवनों में प्रवासियों को क्वारंटाइन किया जा रहा है वहां बिजली पानी की कोई व्यवस्था नहीं है। ग्राम प्रधान अपने जेब से खर्च कर व्यवस्था कर रहे है। लेकिन यह लंबे समय तक नहीं चल सकता है। नेताप्रतिपक्ष ने कहा कि बाहर से आने वाले लोगों को कम से कम 14 दिन तक क्वारंटाइन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसे में अगर सरकार ग्राम प्रधानों की समस्याओं का समाधान नहीं करती है तो कांग्रेस कार्यकर्ता अपने घरों पर ही सरकार के खिलाफ धरना देंगे।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि कोरोना काल में संक्रमितों और संदिग्ध लोगों के अलावा आम लोगों की सुविधा की जिम्मेदारी सरकार की है। उन्होंने कहा कि प्रावासियों को वापस तो लाया जा रहा है लेकिन उनके पास पैसे नहीं है। न ही उनके घरों में राशन है। ऐसे में राज्य सरकार उनकी व्यवस्था करें। इन लाखों बेरोजगार प्रवासियों को रोजगार दें। जिससेउनका जीवन कट सकें।

 

उत्तराखंड की बड़ी खबरें