inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तराखंड हल्द्वानी- मेडिकल कॉलेज ने इन डॉक्टरों को किया चिन्हित, अब ऐसे होगी...

हल्द्वानी- मेडिकल कॉलेज ने इन डॉक्टरों को किया चिन्हित, अब ऐसे होगी बड़ी कार्यवाही

रुद्रपुर: हल्द्वानी मार्ग पर बस व बोलेरो में भिड़ंत, दो लोगों की मौत

रुद्रपुर। हल्द्वानी राजमार्ग पर सोमवार रात को एक बोलेरो और प्राइवेट बस में जबरदस्त टक्कर हो गई। हादसे में दो लोगों की मौत होने...

रुद्रपुर: जिला पंचायत को इस तरह करोड़ों का चूना लगा गया यूपी का ठेकेदार, अब वसूली का नोटिस

रुद्रपुर। जिला पंचायत के लदान ढुलान ठेकेदार ने जिला पंचायत को 2.22 करोड़ रुपए की आर्थिक क्षति पहुंचा दी। अपर मुख्य अधिकारी ने उक्त...

उत्तराखंड- सीएम त्रिवेन्द्र ने किया पशुपालन विभाग के टोल फ्री नंबर का शुभारंभ, योजना को लेकर कही ये बात

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सचिवालय परिसर में पशुपालन एवं मत्स्य विभाग की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को ‘मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना’ के तहत पशुपालन...

नैनीताल- यहां सड़क हादसे में बागेश्वर के जेई की हुई दर्दनाक मौत, ऐसे घटी पूरी घटना

उत्तराखंड के नैनीताल जिले के ओखल कांडा ब्लॉक के हरीश ताल मार्ग पर उस वक्त हादसा हो गया जब एक पिक अप अनियंत्रित होकर...

देहरादून- उत्तराखंड में कोरोना से 7 और लोगों ने गवाईं जान, आकड़ा बढ़कर पहुंचा इतना

उत्तराखंड में आज 376 नये कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के साथ ही राज्य में आंकड़ा बढ़कर 71632 हो गया है। जबकि 7 लोगों की...

देवभूमी में सरकार पहाड़ी क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने का दावा कर रही है। मगर सरकार की इस दावे को कई डॉक्टर ठेंगा दिखा रहे हैं। देवभूमी के कई दुर्गम इलाकों में आज भी लोग सही इलाज के लिए तरस रहे है। ये सरकारी अस्पतालों में बड़ी उम्मीद से जाते हैं लेकिन डॉक्टरों की कमी के कारण उन्हें निराश होना पड़ता है। नैनीताल, पिथौरागढ़ और अल्मोड़ा जिलों में डॉक्टरों का टोटा चल रहा है। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि इन इलाकों में भेजे गए कई डॉक्टरों ने ज्वाइन नहीं किया है। ये डॉक्टर दुर्गम नहीं वल्की सुर्गम इलाकों में रहकर कार्य करना चाहते है। किसी ने ज्वाइन किया भी तो वह दूसरे दिन ही खिसक गया। अब वे कहां हैं इसका भी पता भी नहीं। स्वास्थ्य महकमा अब ऐसे डॉक्टरों को नोटिस देने की बात कह रहा है।

doctor

मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस पूरा करने वाले डॉक्टरों को पहाड़ों पर तैनाती दी जाती है। दुर्गम में तैनाती मिलते ही डॉक्टरों की परेशानी बढ़ जाती है। प्रदेश सरकार और स्वास्थ्य विभाग ये दावा करता है कि नए डॉक्टर राज्य को मिले हैं। लेकिन सच्चाई इन सब से परे है। स्वास्थ्य विभाग की माने तो ऐसे डॉक्टरों के खिलाफ अब सख्त एक्शन लिया जाएगा। मामले में मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य सीपी भैसोड़ा ने जानकारी दी कि अपने कार्य से नदारद होने वाले या नहीं पहुंचने वाले ऐसे 44 डॉक्टरों को विभाग द्वारा नोटिस जारी किये जा रहे है। जिसके बाद इन डॉक्टरों के खिलाफ उचित कार्यवाई की जाएगी।

Related News

रुद्रपुर: हल्द्वानी मार्ग पर बस व बोलेरो में भिड़ंत, दो लोगों की मौत

रुद्रपुर। हल्द्वानी राजमार्ग पर सोमवार रात को एक बोलेरो और प्राइवेट बस में जबरदस्त टक्कर हो गई। हादसे में दो लोगों की मौत होने...

रुद्रपुर: जिला पंचायत को इस तरह करोड़ों का चूना लगा गया यूपी का ठेकेदार, अब वसूली का नोटिस

रुद्रपुर। जिला पंचायत के लदान ढुलान ठेकेदार ने जिला पंचायत को 2.22 करोड़ रुपए की आर्थिक क्षति पहुंचा दी। अपर मुख्य अधिकारी ने उक्त...

उत्तराखंड- सीएम त्रिवेन्द्र ने किया पशुपालन विभाग के टोल फ्री नंबर का शुभारंभ, योजना को लेकर कही ये बात

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सचिवालय परिसर में पशुपालन एवं मत्स्य विभाग की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को ‘मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना’ के तहत पशुपालन...

नैनीताल- यहां सड़क हादसे में बागेश्वर के जेई की हुई दर्दनाक मौत, ऐसे घटी पूरी घटना

उत्तराखंड के नैनीताल जिले के ओखल कांडा ब्लॉक के हरीश ताल मार्ग पर उस वक्त हादसा हो गया जब एक पिक अप अनियंत्रित होकर...

देहरादून- उत्तराखंड में कोरोना से 7 और लोगों ने गवाईं जान, आकड़ा बढ़कर पहुंचा इतना

उत्तराखंड में आज 376 नये कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के साथ ही राज्य में आंकड़ा बढ़कर 71632 हो गया है। जबकि 7 लोगों की...

हल्द्वानी- दर्जा राज्य मंत्री प्रकाश हर्बोला ने किया शहर की सफाई व्यवस्था का निरीक्षण,अधिकारियों को दिए ये निर्देश

ठोस अपशिष्ट प्रबंधन, कूड़ा पृथक्करण और सिंगल यूज प्लास्टिक पर रोक को लेकर नगर निगम सभागार में समीक्षा बैठक आयोजित की गई। नगरीय पर्यावरण...