हल्द्वानी-कुमाऊंनी शैली पर आधारित भव्य रूप में तैयार होगा हल्द्वानी तहसील, शॉपिंग के साथ मिलेंगे ये सुविधाएं

Slider

हल्द्वानी-कुमांऊ के प्रवेश द्वार हल्द्वानी में सदियों पुराना तहसील भवन जल्द ही नये स्वरूप में लोगों को दिखेगा। कुमांऊनी शैली पर आधारित भव्य तथा आधुनिकतम सुविधाओं से युक्त तहसील भवन बनाये जाने के लिए प्रशानिक स्तर कवायद शुरू हो गई है। नये भवन के निर्माण के लिए की जा रही कार्यवाही तथा सर्वे आदि की समीक्षा आयुक्त कुमाऊं मण्डल अरविन्द सिह हृयांकी ने सोमवार को शिविर कार्यालय में की। उन्होंने बताया कि तहसील भवन के साथ ही परिसर मेें विभिन्न राजकीय कार्यालयों तथा शापिंग काम्पलैक्स भी बनाये जायेंगे।

commisoner
हल्द्वानी में नवीन तहसील भवन निर्माण मुख्यमंत्री की घोषणा में शामिल है। उन्होंने बताया कि इस भवन के निर्माण के 21 करोड़ की डीपीआर लोनिवि द्वारा बनाकर शासन को भेज दी है। अब अत्याधुनिक तहसील भवन के साथ ही परिसर में ऑफिस काम्पलैक्स एवं शापिंग काम्पलैक्स निर्माण का सर्वे कर प्लान जिला विकास प्राधिकरण द्वारा तैयार किया गया है। इन सभी भवनों का निर्माण कार्य पीपीपी मोड में कराये जायेंगे ताकि इस महत्वपूर्ण कार्य योजना मे सरकार के ऊपर वित्तीय बोझ ना पड़े।

Slider

Hyanki
हृयांकी ने बताया कि महानगर में किराये पर चल रहे राजकीय कार्यालयों को स्थानान्तरित किया जायेगा। इससे सरकार को राजस्व की बचत होगी तथा जनसाधारण को एक ही परिसर में सभी कार्यालय मिलने से उनके धन एवं समय की बचत भी होगी। आयुक्त हृयांकी ने जिलाधिकारी सविन बंसल, जिला विकास प्राधिकरण व लोनिवि के अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए तहसील भवन आफिस काम्पलैक्स, शापिंग काम्पलैक्स, अधिकारी कर्मचारियों के आवास डिजाइन प्लान पर विस्तृत चर्चा कर कई सुझाव दिये।

उन्होंने कहा कि भवनों के निर्माण में भवन बाइलॉज पर विशेष ध्यान दिया जाए। साथ ही भवन अत्याधुनिक, रोशनी व हवादार बनाये जायें। उपाध्यक्ष जिला विकास प्राधिकरण रोहित मीणा व सचिव पंकज उपाध्याय ने हल्द्वानी तहसील भवन, ऑफिस काम्पलैक्स, आफिसर्स एवं स्टाफ आवास, डीडीए काम्पलैक्स का डाटा प्रजेन्टेशन के माध्यम से प्लान प्रस्तुत किया। आयुक्त ने लोनिवि अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे जिला विकास प्राधिकरण के अधिकारियों के साथ बैठकर तहसील भवन मानचित्र में जो अन्य सुविधायें जोडऩे हैं।उन्हें भवन बाईलॉज सहित समाहित कर लें। इस दौरान बैठक में अपर आयुक्त संजय खेतवाल, नगर आयुक्त सीएस मर्तोलिया, मुख्य अभियन्ता लोनिवि दीपक यादव, अधिशासी अभियन्ता एचएस रावत आदि मौजूद थे।

 

उत्तराखंड की बड़ी खबरें