iimt haldwani

हल्द्वानी-कृषि मंडी अध्यक्ष गजराज ने किया ई-नाम भवन एवं सभागार का लोकापर्ण, किसानों को ऐसे मिलेगा लाभ

174

ल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्कआज वैदिक मंत्रों के बीच मण्डी समिति परिसर में नवनिर्मित ई-नाम भवन एवं सभागार का लोकापर्ण अध्यक्ष उत्तराखण्ड कृषि उत्पादन विपणन बोर्ड गजराज सिंह बिष्ट तथा विधायक नवीन चन्द्र दुम्का द्वारा संयुक्त रूप से किया गया। इस अवसर पर अध्यक्ष बिष्ट ने कहा कि भारत सरकार के माध्यम से किसानों की आय दोगुनी किये जाने के उद्देश्य से प्रदेश भर की मंडिया नई कार्य संस्कृति एवं ऊर्जा के साथ किसानो के हितों में जुटी है। उन्होंने मण्डियों में चलाई जा रही ई-राष्ट्रीय कृषि बाजार परियोजना की जानकारी देते हुए बताया कि सरकार द्वारा देश की सभी मण्डियों को ऑनलाइन बाजार के रूप में विकसित करने का कार्य किया जा रहा है। जिससे किसानों एव व्यापारियो को कृषि उपज के क्रय-विक्रय हेतु एक वृहद एवं सुविधाजनक बाजार उपलब्ध हो सकेगा। उन्होंने बताया कि इस परियोजना का शुभारम्भ अप्रैल 2016 में देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा किया गया।

amarpali haldwani

देशभर की 585 मण्डियां जुड़ी इस परियोजना से

इस परियोजना का शुभारम्भ भारत सरकार के कृषि मंत्रालय द्वारा सर्वप्रथम देश की 21 मण्डियों में पायलैट प्रोजेक्ट के रूप मे किया गया। बेहतर परिणाम हासिल होने पर देश की 585 मण्डियां इस परियोजना से जुड़ चुकी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की 16 मण्डियों में ई-नाम परियोजना गतिमान है। इस परियोजना के अन्तर्गत मंडी समिति में किसानों की सुविधा के लिए उनकी उपज के परिक्षण हेतु निशुल्क ई-नाम लैब स्थापित की गई है। मंडी विपणन बोर्ड द्वारा आर्गेनिक खेती केा बढ़ावा देने हेतु विगत तीन वर्ष पूर्व पर्वतीय क्षेत्रों मे विपणन बोर्ड द्वारा मल्टीग्रेन क्रय येाजना प्रोजेक्ट के अन्तर्गत पर्वतीय क्षेत्र में सर्वें कराकर चमोली एवं अल्मोड़ा के किसानों को उनकी स्थानीय उपज का लाभकारी मूल्य दिलाये जाने एवं क्षेत्रीय उपजों की पैदावार बढ़ाये जाने के उद्देश्य के तहत किसानों के खेतों को आर्गेनिक खेती के लिए तैयार कराया गया। किसानों द्वारा इन खेतों में मडुवा, चैलाई, झिंगोरा की फसलों का उत्पादन किया गया। बिष्ट ने बताया कि किसानों द्वारा उत्पादित फसल को उनके उत्पादित स्थल पर जाकर उसे उचित मूल्य पर क्रय कर 61 किसानों को 9 लाख 28 हजार का उत्पाद क्रय किया गया। जिनमें से 16 किसानों को 2 लाख 20 हजार का भुगतान मंडी समिति हल्द्वानी द्वारा कर दिया गया है। शेष 45 किसानों को बैक खातों के माध्यम से भुगतान किया गया है।

विधायक नवीन दुम्का ने कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों में आर्गेनिक खेती को बढ़ावा देने में मंडी समितियों की अहम भूमिका है। मण्डियों द्वारा सर्वे कराकर आर्गेनिक खेती को पूरे प्रदेश में प्रोत्साहित किये जाने की दिशा में प्रदेश सरकार एवं मण्डिया सकारात्मक कार्य कर रही है। कार्यक्रम में जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट, महामंत्री चन्दन सिंह, दिनेश खुल्वे,अध्यक्ष फल-सब्जी आढ़ती एसोशिएसन जीवन कार्की, अध्यक्ष ग्रेन मर्चेन्ट एसोशिएशन तरूण बंसल के अलावा प्रबन्ध निदेशक कृषि उत्पादन विपणन बोर्ड बीएस चलाल, प्रशासक मण्डी एवं उपजिलाधिकारी विजय नाथ शुक्ल, महाप्रबन्धक पीएल शैल, विजय सिह, उपमहाप्रबन्धक बीसी जोशी, अनिल कुमार, प्रकाश रावत, चतुर सिंह बोरा, आलम नदगली, प्रताप बिष्ट, राजेन्द्र सिंह जीना, जगदीश विष्ट, मुकेश बोरा, प्रताप बोरा, प्रमोद बोरा, गणेश पंत, सुरेन्द्र नदगली, गोविन्द ताकुली, हरीश आर्य, भूपेन्द्र क्वीरा, हिमांशु मिश्रा, सचिव मण्डी विश्व विजय सिंह देव के अलावा ललित मोहन पाण्डे, गणेश त्रिपाठी के अलावा बड़ी संख्या में क्षेत्रीय काश्तकार आदि मौजूद थे।