drishti haldwani

हल्द्वानी- भवन निर्माण में इन चीजों का रखें खास ध्यान, IIA के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कही ये बड़ी बात

524

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क- कुमाऊं आर्किटेक्ट्स एसोशिएसन के छह जिलो में कार्यरत पेशेवर आर्किटेक्ट्स ने आज अपना पहला वार्षिक समारोह मनाया। इस समारोह को आव्हान नाम दिया गया। इस मौके पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ आर्किटेक्ट्स के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिव्य कुश ने कहा आर्किटेक्ट्स को अपना काम ईमानदारी से करना चाहिए। जिससे उसकी मांग आगे और बढ़े। देश में ऐसे आर्किटेक्ट्स भी है जिन्होंने भारत ही नहीं विश्व में भी देश का नाम रोशन किया है। उन्होंने बड़ी-बड़ी बिल्डिंगों का निर्माण कार्य किया है। आर्किटेक्ट्स हर प्रोजेक्ट की ऐसी कार्य योजना बनाये जिसका लाभ सरकार के साथ-साथ उपभोक्ताओं को भी मिले।

iimt haldwani

ईमानदारी से काम करें आर्किटेक्ट्स -कुश

उन्होंने कहा कि कई प्रदेश में ऐसा देखा गया कि आर्किटेक्ट्स और निर्माण सामग्री बनाने वाली कंपनियों के साथ आर्किटेक्ट्स की सांठ-गांठ की शिकायतें मिली है। जो कि गलत है। उन्होंने कहा कि आर्किटेक्ट्स अपना काम ईमानदारी से करें। जिससे उनकी मांग बढ़े और बेहतर डिजाइन देने की कोशिश करें। वह बिल्डिंग में इमोशन भी लगाये जैसा अपना घर बनाते हो वैसा दूसरे का भी बनाये। वही कई बार ठेकेदार द्वारा भी घटिया क्वालिटी से निर्माण कार्य किया जाता है। इससे ग्राहक का हानि झेलनी पड़ती है। जिसका परिणाम यह होता है कि आगे चलकर काम मिलना बंद हो जाता है।

कांउंसिल ऑफ आर्किटेक्ट्स का लाइसेंस करें चेक

इस मौके पर राष्ट्रीय अध्यक्ष कुश ने कहा कि अच्छा काम करने पर एक अच्छा सेंटर बनेगा और 100 मेंबर बनने पर एक चैप्टर तैयार होगा। इससे हमें अपनी आवाज उठाने में फायदा मिलेगा। उन्होंने कहा कि बिल्डिंग बनाते समय कमीशन न लें। वही अगर कोई बिल्डिंग बनाता है तो वह कांउंसिल ऑफ आर्किटेक्ट्स का लाइसेंस भी चेक करें। उन्होंने कहा कि कुछ लोग बगैर लाइसेंस के यहां काम कर रहे है। जिसका खामियाजा आर्किटेक्ट्स को भुगतना पड़ता है। बता दें कि इस संस्था का गठन 1917 में मुंबई में हुआ था। इस मौके पर टाउन प्लानर एसएम श्रीवास्तव, कुमाऊं के अध्यक्ष संजय कुमार सिंह, उपाध्यक्ष कनिका अग्रवाल, जनरल सेक्रेटी सौरभ सुमन, मनीष जौहरी, नरेश चंदोला, कपिल मुदगल सहित कई कांउंसिल के मेंबर मौजूद थे।