inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तराखंड कुमाऊँ हल्द्वानी- कर्नाटक में फंसी उत्तराखंड की छात्राओं ने लगाई गुहार, यूकेडी नेता...

हल्द्वानी- कर्नाटक में फंसी उत्तराखंड की छात्राओं ने लगाई गुहार, यूकेडी नेता गडक़ोटी ने सरकार को घेरा

नैनीताल- टेलर की बेटी ने ऐसे किया सरोवर नगरी नैनीताल का नाम रोशन..पढ़िए पूरी खबर

  नैनीताल-- शहर में टेलर का काम करने वाले राजकुमार की बेटी ने नेट क्वालीफाई किया है। गरीब परिवार की बेटी की कामयाबी से परिवार...

भीमताल-बहुउददेशीय शिविर में उमड़े लोग, इन समस्याओं का हुआ समाधान

भीमताल-आज बहुउददेशीय शिविर जिलाधिकारी सविन बंसल द्वारा पुन: शुरू कर दिये गये है। स्थितियां सामान्य होने की ओर अग्रसर होने पर अनलॉक हुआ जिसके...

रामनगर-31 प्रतिशत अभ्यर्थियों ने छोड़ दी डीएलएड प्रवेश परीक्षा, सामने आयी ये बड़ी वजह

रामनगर-प्रदेश में आज डीएलएड की प्रवेश परीक्षा शांतिपूर्वक संपन्न हो गई। इस दौरान 31 प्रतिशत अभ्यर्थियों ने परीक्षा छोड़ दी। बड़ी संख्या में परीक्षा...

धारचूला-काली नदी में समाई स्कार्पियो, सुबह-सुबह मिली दर्दनाक मौत

धारचूला- आज धारचूला-तवाघाट मार्ग पर धारचूला से दोबाट जा रही एक स्कार्पियो धारचूला से लगभग चार किमी दूर टीवी टावर के पास सडक़ से...

हल्द्वानी-उत्तराखंड जनकवि बल्ली सिंह चीमा को मिलेगा शिरोमणि हिंदी साहित्यकार सम्मान, इस राज्य ने की घोषणा

हल्द्वानी- पंजाब सरकार ने जनकवि राज्य आंदोलनकारी और ले मशालें चल पड़े हैं लोग मेरे गांव के!! जैसे कालजयी जनगीत के रचनाकार बल्ली सिंह...

हल्द्वानी-यूकेडी नेता के रणजीत गडक़ोटी लगातार उत्तराखंड के हित में कार्य कर रहे है। लॉकडाउन में उत्तराखंड के प्रवासियों की सबसे ज्यादा मदद करने वालों में रणजीत गडक़ोटी का नाम शामिल है। देशभर के दूसरे राज्यों में फंसे उत्तराखंड प्रवासियों तक उन्होंने राशन से लेकर उन्हें घर तक भेजने का प्रबंध कराया। आज उन्होंने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर करते हुए प्रदेश के मुखिया त्रिवेन्द्र सिंह रावत को जमकर घेरा।

ranjeet gadkoti

गडक़ोटी ने कहा कि मुख्यमंत्री कौन से छात्रों को वापस लाये। मैसूर में जो छात्र फंसे है, उन्हें क्यों नहीं लाया गया। मुंबई से प्रवासियों को क्यों नहीं लाया जा रहा है। यहां तक की पास नहीं बन रहे थे। बड़ी मुश्किल से आज पास बनाकर तीन गाडिय़ों से प्रवासी उत्तराखंड को लौट रहे है। जो खुद अपने खर्चे से आ रहे है। वहीं दिल्ली में पिछले दो दिन से नहीं बन रहे है जिससे लोग परेशान है। सबसे ज्यादा परेशान गरीब लोग जिनके पास गाड़ी से आने की सुविधा नहीं है। उन्होंने कहा जिसे लॉकडाउन के दौरान भोजन नहीं मिला, वह कहां से गाड़ी बुक करेगा। उन्होंने कहा कि आज सूचना मिली है कि पंजाब से कुछ प्राइवेट बसें लगी है। जो 5 हजार रूपये प्रति व्यक्ति वसूल रही है। इस पर उत्तराखंड सरकार और पंजाब सरकार दोनों की जवाबदेही बनती है कि कैसे प्राइवेट बसों को परमिशन मिल रही है। लॉकडाउन में किस कदर
लोगों को लूटा जा रहा है। उन्होंने उत्तराखंड सरकार से इस बारे में जवाब मांगा है।

उन्होंने कहा कि कई प्रवासी पैदल चल रहे है। उनके पैरों में छाले पड़ चुके है। पांव सूज गये है। एक प्रवासी ने कहा कि मैंने रजिस्टे्रशन किया लेकिन कोई फायदा नहीं मिला। कुछ बसें लगी तो उन्होंने कहा पहले महिलाओं को भेज रहे है। फिर बच्चों को भेज रहे है। इसके बाद हम लोग पैदल ही रास्ता लग गये। कई जगहों से होकर हम लोग आ रहे है। फिलहाल अभी रास्ते में फंसे हुए है।

aarti

उन्होंने कई प्रवासियों के वीडियों शेयर किये। कनार्टक में फंसे छात्राओं का कहना है कि वह पिछले दो महीने से यहां फंसे हुए है लेकिन अभी तक उत्तराखंड सरकार ने उनकी कोई सुध नहीं ली। उनके साथ 100 छात्र-छात्राएं फंसी है। सबसे पहले उन्होंने टे्रन का टिकट कराया लेकिन वह कैंसिल हो गई जिसमें उनके पैसे फंस गये। फिर उन्होंने बसों की ओर रूख किया लेकिन वहां भी उन्हें निराशा मिली। उन्होंने कर्नाटक सरकार और उत्तराखंड सरकार के वेबसाइटों पर भी आवेदन कर दिया लेकिन अभी तक कोई जवाब नहीं आया। उन्होंने सोशल मीडिया के द्वारा मिले नंबरों पर देहरादून के अधिकारियों से संपर्क किया उनका बस यही कहना है बात चल रही है। छात्राओं ने सरकार से और उत्तराखंड के लोगों से उन्हें कर्नाटक से निकालने की मांग की।

 

Related News

नैनीताल- टेलर की बेटी ने ऐसे किया सरोवर नगरी नैनीताल का नाम रोशन..पढ़िए पूरी खबर

  नैनीताल-- शहर में टेलर का काम करने वाले राजकुमार की बेटी ने नेट क्वालीफाई किया है। गरीब परिवार की बेटी की कामयाबी से परिवार...

भीमताल-बहुउददेशीय शिविर में उमड़े लोग, इन समस्याओं का हुआ समाधान

भीमताल-आज बहुउददेशीय शिविर जिलाधिकारी सविन बंसल द्वारा पुन: शुरू कर दिये गये है। स्थितियां सामान्य होने की ओर अग्रसर होने पर अनलॉक हुआ जिसके...

रामनगर-31 प्रतिशत अभ्यर्थियों ने छोड़ दी डीएलएड प्रवेश परीक्षा, सामने आयी ये बड़ी वजह

रामनगर-प्रदेश में आज डीएलएड की प्रवेश परीक्षा शांतिपूर्वक संपन्न हो गई। इस दौरान 31 प्रतिशत अभ्यर्थियों ने परीक्षा छोड़ दी। बड़ी संख्या में परीक्षा...

धारचूला-काली नदी में समाई स्कार्पियो, सुबह-सुबह मिली दर्दनाक मौत

धारचूला- आज धारचूला-तवाघाट मार्ग पर धारचूला से दोबाट जा रही एक स्कार्पियो धारचूला से लगभग चार किमी दूर टीवी टावर के पास सडक़ से...

हल्द्वानी-उत्तराखंड जनकवि बल्ली सिंह चीमा को मिलेगा शिरोमणि हिंदी साहित्यकार सम्मान, इस राज्य ने की घोषणा

हल्द्वानी- पंजाब सरकार ने जनकवि राज्य आंदोलनकारी और ले मशालें चल पड़े हैं लोग मेरे गांव के!! जैसे कालजयी जनगीत के रचनाकार बल्ली सिंह...

रुद्रपुर: गुमशुदी की सूचना देने थाने पहुंचे परिजनों की निकली चीख, जानिए क्यों

रुद्रपुर। घर से निकले थे ड्राइविंग करने, लेकिन शव गल्ला मंडी में मिला। माना जा रहा है कि अधिक शराब पीने की वजह से...