हल्द्वानी-जीतपुर नेगी गांव पहुंचा अधिकारियों का दल, बोले ग्रामीण समस्या का करो हल तब करेंगे वोट

Slider

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क-आज जीतपुर नेगी गांव में प्रशासन की टीम पहुंची। इस दौरान उन्होंने ग्रामीणों से चुनाव बहिष्कार का कारण जानना चाहा। ग्रामीणों ने बताया कि पिछले वर्ष नगर निगम परिसीमन में जीतपुर नेगी के आधे हिस्से को नगर निगम में शामिल कर दिया गया जबकि उसका आधा हिस्सा छोड़ दिया गया। इसके बाद हुए ग्राम पंचायत परिसीमन में भी उस हिस्से को छोड़ दिया गया। इससे यहां निवास कर रहे ग्रामीण न नगर निगम के मतदाता बन सकें और न ही ग्राम पंंचायत के। जबकि पहले उनका क्षेत्र ग्रामीण में शामिल था। इस मामले के लिए उन्होंने कई अधिकारियों के चक्कर काटे लेकिन कोई भी अधिकारी संतुष्ट जवाब नहीं दे पाया। जिसके आक्रोशित ग्रामीणों ने लोकसभा चुनाव का बहिष्कार का ऐलान कर दिया।


समस्या का हल करो खुलकर होगा मतदान

चुनाव बहिष्कार की खबरें अखबारों मे प्रसारित होने के बाद आज प्रशासन की टीम जीतपुर नेगी गांव पहुंची। जहां उन्होंने ग्रामीणों से चुनाव बहिष्कार का कारण जानना चाहा तो ग्रामीणों ने उन्हें साफ कहा कि या तो उनके गांव कों नगर निगम में शामिल करे या फिर ग्रामीण में जब तक ऐसा नहीं होता उनका विरोध जारी रहेगा। जिसके बाद अधिकारी अपनी रिपोर्ट तैयार कर लौट आये। इस दौरान तहसीलदार पीआर आर्या समेत कई अधिकारी दल में शामिल थे। तहसीलदार आर्य ने बताया कि ग्रामीणों को चुनाव बहिष्कार न करने के लिए समझाया गया। वही ग्रामीणों का कहना है कि अगर हम पहले ग्राम पंचायत में शामिल थे तो वहा से क्यों हटाया गया। हमें पहले की भांति ग्राम पंचायत में जोड़ा जाय। ग्रामीणों ने साफ कहा कि समस्या का हल करो 100 प्रतिशत मतदान करेंगे। बता दें यहां करीब 500 परिवारों ने चुनाव बहिष्कार का एलान किया है।

Slider
उत्तराखंड की बड़ी खबरें