drishti haldwani

हल्द्वानी-अगर सिर दर्द से परेशान है आप तो अजमायें डा. एनसी पाण्डेय के ये टिप्स, फिर नहीं रहेगी कभी शिकायत

773

हल्द्वानी-सिर में दर्द कभी न कभी हर किसी को जरुर होता है। सिर दर्द होने की आमतौर पर कोई गंभीर वजह नही होती है। इसलिए लाइफस्टाइल में बदलाव और रिलैक्सेशन के तरीके सीखकर इसे दूर किया जा सकता है। इसके साथ कुछ होम्योपैथिक दवा खाकर आप अपने सिरदर्द से राहत पा सकते है। सामान्य: सिर में दर्द रहना एक आम बात है, परन्तु समय पर इसका इलाज नहीं कराया गया तो आगे चलकर यह सर दर्द माइग्रेन का रूप या माइग्रेन का कारण बन सकता है। सर दर्द धीरे धीरे या अचानक उत्पन्न हो सकता है। यह जानकारी साहस होम्योपैथिक के विशेषज्ञ डा.एनसी पाण्डेय द्वारा दी गई।

iimt haldwani

 

डा. एनसी पाण्डेय ने बताया कि आंखों में थकान, धूप में ज्यादा देर तक रहना, गलत तरीके से सोना, नींद पूरी न होना, खानपान की गड़बड़ी, सर्दी जुकाम, ज्यादा थकान, टेंशन, कंधों व गर्दन की मांसपेशियां के कसाव के कारण भी हो सकता है। परन्तु कई बार यह अन्य कारणों से भी हो सकता है। कारण कुछ भी हो, यदि समय पर उपचार नहीं किया गया तो ये गंभीर समस्या बन सकता है। उन्होंने बताया कि सिर में तेज दर्द कभी भी होना, कभी-कभी सिर दर्द के कारण चक्कर आना, चिड़चिड़ापन होना, किसी भी काम में न ध्यान लगाना और न ही सही तरह से कोई काम कर पाना आदि लक्षण हो सकते है।

Dr. NC Pandey
उन्होंने बताया कि इसका समाधान आसानी से किया जा सकता है। इसे लिए उन्होंने होम्योपैथिक दवाइयां बताई है। सबसे पहले आप Belladonna30 में 2 बूंदे सुबह, दोपहर, शाम (अगर दर्द ज्यादा है तो आप इसे 6 बार भी ले सकते है।) इसके साथ आप B.C12 इसे आप 4 गोली सुबह, दोपहर, शाम को तीन लें (इसे भी आप दर्द ज्यादा होने पर 3 से 6 बार तक ले सकते है) इसके साथ आप SBL कंपनी का Relaxhead tab की 2 गोली सुबह, दोपहर, शाम को लें।

आप योग्य चिकित्सक की सलाह के अनुसार दवा लेते हैं। तब होमियोपैथी दवाएं निश्चित मात्रा में लेने पर शरीर पर बिना विपरीत प्रभाव (Side effect) डालें, प्रकृति से साथ मिलकर रोगों से उपचार की प्राचीन, विश्वसनीय और प्रभावी चिकित्सा प्रणाली हैं। विपरीत प्रभाव वायु, जल और भोजन आदि का होता हैं। अगर आप सही मात्रा में, सही समय पर, शरीर के अनुकूल, बिना आवश्यक गुणवत्ता के ग्रहण कर करते हैं। इसलिए दवा लेने में भी सावधानी रखे। साहस होमियोपैथी में डां पाण्डेय के परामर्श द्वारा हजारों लोग रोगमुक्त होकर आनंद से जीवन निर्वाह कर रहे हैं।

ध्यान दे- दवाओं का सेवन बताई गई विधि और मात्रा में ही करें, आप किसी अन्य बीमारी से ग्रस्त हैं तो दवाओं का उपयोग करने से पूर्व अपने निकटतम विश्वसनीय होमोपैथिक विशेषज्ञ से जरुर परामर्श कर लें।