iimt haldwani

हल्द्वानी- अंतराष्ट्रीय योग दिवस पर आम्रपाली में उमड़ा लोगों का सैलाब, आदियोग फांउडेशन और आम्रपाली ऐसे रचा इतिहास

353

हल्द्वानी- International Day of Yoga 2019)आज अंतराष्ट्रीय योग दिवस पर आदि योग फांउडेशन द्वारा आम्रपाली इंस्टीट्यूट शिक्षा नगर लामाचौड़ में योग शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में शहर के कई बड़े अधिकारियों समेत आमजन ने शिरकत की। साथ ही शिविर में व्यापार मंडल, बार एसोशिएसन, छात्र संघ समेत कई सामाजिक संस्थाओं ने भी प्रतिभाग किया। आदि योग की अध्यक्ष मानसी जोशी ने बताया वह आयुष मंत्रालय द्वारा जारी किये गये योग निर्देशिका के अनुसार लोगों को योगाभ्यास कराया तथा योग के टिप्स भी दिये।

amarpali haldwani

मानसी जोशी ने ताड़ासन, वृक्षासन, पादहस्तासन, अर्ध चक्रासन, त्रिकोणासन, भद्रासन, व्रजासन/वीरासन, अर्ध उष्ट्रासन, उष्ट्रासन, शशकासन, उत्तानमंडूकासन, मरीच्यासन/वक्रासन, मकरासन, भुजंगासन, शलभासन, सेतुबंधासन, उत्तानपादासन, अर्ध हलासन, पवनमुक्तासन, शवासन, कपालभाति, नाड़ीशोधन/अनुलोम, विलोम प्राणायाम, शीतली प्राणायाम, भ्रामरी प्राणायाम आदि कई आसनों को अभ्यास ककराया।आदि योग की ओर से शीतल, कविता, तारा पतवाल, तरूण भाकुनी, अंशिका और आयुश से शिविर में हिस्सा लिया।

नशे से दूर रहे युवा-ढीगरा

इस मौके पर आम्रपाली संस्थान के सीईओ संजय ढीगरा ने कहा कि योग हमारे जीवन का एक अहम अंग बन चुका है। योग से द्वारा कई बीमारियों से बचा जा सकता है। जिस तरह से आदि फांउडेशन ने योग की जानकारी दी है उससे काफी कुछ सीखना को मिला। योग भारत के ऋषियों-मुनियों द्वारा विश्व को दिया गया एक अनमोल उपहार है। योग तनाव, अवसाद, मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसी बीमारियों से हमें बचाता है। योग शिविर का संचालन मनमोहन जोशी ने किया। शिविर में भारी संख्या में भीड़ देख संस्थान ने खुशी जताई। उन्होंने कहा कि हमें सबसे ज्यादा युवाओं को योग से जोडऩा है जिससे वह नशे से दूर रह सकें। आज युवा नशे की गिरफ्त में है। योग ऐसा माध्यम है जो हमें कई बीमारियों से लडऩे में शक्ति प्रदान करता है। उन्होंने कहा कि नशे के कारण आज कई युवाओं को करियर बर्बाद हो चुका है। हमें योग के साथ-साथ युवाओं को नशे से दूर रखना होगा। शिविर में डिजिटल मीडिया की भागीदारी न्यूज टुडे नेटवर्क औरप सोशल मीडिया की जिम्मेदारी टीम हल्द्वानी ऑनलाइन 2011 ने निभाई। योग शिविर में पूर्व मंडी सभापति सुमित हृदयेश, आदियोग से नीरज जोशी, कमल सुयाल, लीला काण्डपाल, डा. जे एस खुराना, मनु प्रकाश, आर पी सिंह, भाजपा नेता मोहन पाल, महेंद्र अधिकारी, शमित टिक्कू, दीपक बलूटिया, मणि पुष्पक, प्रशांत शर्मा, पंकज शाह, नितिन माथुर आदि ने प्रतिभाग किया।