PMS Group Venture haldwani

हल्द्वानी- निर्दलीय प्रत्याशी राहुल धामी चटा सकते है ABVP और NSUI को धूल, ऐसे बनाई है जीत की प्लानिंग

2372
Slider

हल्द्वानी न्यूज- कुमाऊं से सबसे बड़े एमबीपीजी डिग्री कॉलेज हल्द्वानी में छात्र संघ चुनाव का खुमार जोरों पर है। एमबीपीजी कॉलेज में छात्र संघ चुनाव 9 सितम्बर को होगा। जिसमें अध्यक्ष पद के लिए राहुल धामी ने निर्दलीय ताल ठोक दी है। जिसके चलते आज उन्होंने अपने सैकड़ो समर्थकों के साथ सशक्त उपस्थिति दर्ज कराते हुए अपनी दावेदारी का पर्चा भरा। बता दें राहुल धामी ने वर्ष 2013 में कॉलेज प्रवेश लिया।

जिसके बाद उन्होंने हर वर्ष कॉलेज चुनाव में एनएसयूआई के लिए कई कार्य किये। हर चुनाव में एनएसयूआई उम्मीदवार को जीत दिलाने के लिए दिन-रात मेहनत भी की। लेकिन इन सब के बाद भी एनएसयूआई द्वारा राहुल को वर्ष 2019 में चुनावी टिकट नहीं मिला। जिसके बाद अब वह कॉलेज के विकास और विद्यार्थियों की जरुरतों को लेकर निर्दलीय प्रत्याशी के रुप में मैदान में उतर गए है।

Slider

haldwani college election rahul dhami

राहुल धामी के चुनावी मैदान में आने के बाद एनएसयूआई और एबीवीपी के प्रत्याशियों को कड़ी टक्कर मिल रही है। राहुल ने यदि वह कॉलेज के अध्यक्ष के रुप में चुने जाते है तो वह छात्र और कॉलेज के लिए कार्य करेंगे। उन्होंने इस दौरान कॉलेज परिसर में छात्रों के लिए जीते जाने के 15 दिन के भीतर कैंटीन खोले जाने से लेकर नये यातायात नियमों को देखते हुए विद्यार्थियों के लिए कॉलेज गेट के अंदर पार्किंग बानयें जाने की भी बात कही है।

साथ ही छात्रों की 75 प्रतिशत से कम हाजिरी पर परीक्षा में न बैठे जाने पर राहुल ने कॉलेज प्रशासन से शिक्षकों के लिए 85% से ऊपर उपस्थिति का फरमान जारी करने की बात कही है। इसके साथ ही कॉलेज में पढ़ने वाली छात्राओं को होने वाली समस्याओं का समाधान करने के लिए 5 टीचरों के पैनल बनाने की भी बात कही है।

ये है राहुल के महत्वपूर्ण मुद्दे

-कॉलेज में सभी विषय की पढ़ाई रोज हो
-रोज कक्षाएं चलनी चाहिए
-रोज टीचर आने चाहिए
-व्यवस्तिथ पुस्तकालय
-कॉलेज में पार्किंग की सुविधा
-महिला सुरक्षा
-कॉलेज में कैंटीन की सुविधा

अध्यक्ष पद पर तीन प्रत्याशी

बता दें कि आज भारी पुलिस बल के बीच एबीवीपी, एनएसयूआई व अन्य प्रत्याशियों ने कॉलेज के विभिन्न पदों के लिए अपना पर्चा दाखिल किया। यह प्रक्रिया दोपहर करीब 2 बजे तक चली। अध्यक्ष पद पर 3 प्रत्याशी मैदान में हैं।

हर उत्तराखंडवासी को मिलेगा 5 लाख का मुफ्त इलाज