हल्द्वानी- शिक्षा में तकनीकी का योगदान छात्रों के लिए कितना सहायक बताएगा यु-सर्क, MIET में होने जा रही महत्तवपूर्ण कॉन्फ्रेंस

Slider

MIET College Conferrence News, एम.आई.ई.टी कुमाऊं में उत्तराखण्ड विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान केन्द्र यु-सर्क द्वारा 22 नवंबर को नेशनल कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया जाएगा। कॉन्फ्रेंस का विषय “Leveraging New Technology For Reimagining Education” है। जिसका उद्देश्य छात्रों को शिक्षा में तकनीकी का योगदान विषय पर विस्तृत जानकारी प्रदान करना है।

MIET College Conferrence News

Slider

इसके साथ ही छात्रों को अनुसन्धान के प्रति रुझान बढानें तथा साहित्य लेखन के विषय में विस्तृत जानकारी प्रदान कराना है। एम.आई.ई.टी कॉलेज के प्रबंध निदेशक डॉ. बी.एस.बिष्ट ने बताया कि कॉन्फ्रेंस के होने से सभी प्रतिभागियों के माध्यम से पूरे समाज को लाभ पहुंचेगा, क्योंकि नयी तकनीकी के अनुप्रयोग से ही भविष्य में हमारे युवा वैश्विक संबंधो का लाभ से सकेंगे।

200 से अधिक कॉलेज रहेंगे उपस्थित

कॉन्फ्रेंस में उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश तथा अन्य राज्यों से लगभग 200 से अधिक विभिन्न डिग्री कॉलेज, इंजीनियरिंग कॉलेजों के प्रोफेसर, अस्सिस्टेंट प्रोफेसर तथा रिसर्च स्कॉलर आदि उपस्थित रहेंगे। इसका अयोजन सचिव तथा एम.आई.ई.टी कॉलेज के कार्यकारी निदेशक तरुण सक्सेना एवं डॉ. आशुतोश भट्ट द्वारा किया जा रहा है। जिन्होंने अधिक जानकारी देते हुए बताया कि इस कॉन्फ्रेंस में विभिन्न कॉर्पोरेट वर्ल्ड, इंजीनियरिंग कॉलेज व यु-सर्क के प्रवक्ता छात्रों को बताएंगे कि तकनीकि का योगदान शिक्षा में उनके भविष्य में होने वाले शोध कार्य में किस प्रकार सहायक है।

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत होंगे मुख्य अतिथि

कॉन्फ्रेंस में वक्ता के रुप में अभय कुमार सक्सेना देव संस्कृत यूनिवर्सिटी, विश्व प्रकाश मिश्रा टीसीएस मुम्बई, प्रो. एस.डी.सामंतरे गोविन्द बल्लभ पंत यूनिवर्सिटी, उमेश उपाध्याय एवं राजदीप जंग यु-सर्क रिसर्च एसोसिएट के अतिरिक्त व अन्य दस विशेषज्ञ कॉन्फ्रेंस में प्रतिभाग करेंगे। कार्यक्रम के संयोजक के रूप में प्रो.कमल किशोर पाण्डेय होंगे। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, चेयरपर्सन कुलसचिव कुमाऊं यूनिवर्सिटी प्रो. के.एस. राणा तथा अतिथि कुलसचिव उत्तराखंड यूनिवर्सिटी प्रो. ओ.पी.एस. नेगी मौजूद रहेंगे।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें