हल्द्वानी-हाईकमान की परीक्षा में कैबिनेट मंत्री आर्य पास, ऐसे दो जिलों में हासिल की जीत

Slider

हल्द्वानी-(जीवन राज)-पंचायत चुनाव में जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लॉक प्रमुख को लेकर घमासान जोरों पर रहा। पिछले कई सालों से नैनीताल और ऊधमसिंह नगर जिले में भाजपा जिला पंचायत अध्यक्ष पद अपनी धाक नहीं जमा पायी। ऐसे में इस बार भाजपा किसी भी हाल में इन सीटों पर विजयी होना चाहती थी। इसके लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने पूरी जिम्मेदारी परिवहन मंत्री यशपाल आर्य को सौंपी। नामांकन के दौरान ही आर्य अपनी परीक्षा में पास हो गये। पहली बार दोनों जिलों से जिला पंचायत अध्यक्ष पर भाजपा ने कब्जा जमा लिया। नैनीताल और ऊधमसिंह नगर में भाजपा कमल खिलाने में कामयाब रही।

bela toliya

Slider

नैनीताल में बेला की बल्ले-बल्ले

इस बड़ी जीत से सरकार व भाजपा संगठन में परिवहन मंत्री आर्य का कद और बढ़ गया है। नैनीताल जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर बेला तौलिया ने निर्विरोध कब्जा जमाया तो ऊधमसिंह नगर से रेनू गंगवार ने मैदान मार लिया। मुख्यमंत्री के आग्रह पर संगठन की ओर से कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य को यह जिम्मेदारी सौंपी थी। नैनीताल जिले की बात करें तो वर्ष 1996 से 2002 तक जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर भाजपा का कब्जा रहा लेकिन न इससे पहले न इसके बाद भाजपा इस किले को भेंदने में सफल हो पायी। अब वर्ष 2019 में आर्य ने यह सूखा खत्म कर भाजपा की झोली भर दी। वही ऊधमसिंह नगर जिले में पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष ईश्वरी प्रसाद गंगवार की पुत्रवधु रेनू गंगवार को अध्यक्ष पद का प्रत्याशी घोषित किया है।

Renu Gangwar Jila Panchayat adhyaksh Us nagar

यूएस नगर में रेनू का कब्जा

यहां भी आर्य का जादू चला। रेनू के टक्कर में कोई दूर-दूर तक नहीं दिखा। जिससे भाजपा ने यहां भी जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर कब्जा कर लिया। इसके अलावा कई भाजपा नेताओं ने कैबिनेट मंत्री आर्य का बखूबी साथ निभाया। नैनीताल में अध्यक्ष पद के साथ-साथ भाजपा ने उपाध्यक्ष पद पर भी कब्जा जमा लिया। कुल मिलाकर जिला पंचायत में वर्षों से कब्जा जमाने वाली कांग्रेस चारो खाने चित्त हो गई।

 

 

उत्तराखंड की बड़ी खबरें