PMS Group Venture haldwani

हल्द्वानी- कोरोना से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग ने कसी कमर, सीएमओ ने सभी डॉक्टरों को दिये ये निर्देश

नैनीताल जिले में कोरोना के तीन संदिग्ध मामले सामने आये है, हालाकिं इनमें से किसी की भी रिपोर्ट पॉजिटिव नहीं आई। लेकिन देश में तेजी से फैल रहे कोरोना के प्रकोप को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग किसी तरह की कोई लापरवाही बरतने के इरादे में नहीं है। हल्द्वानी शिविर कैम्प कार्यालय में आज मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. भारती राणा ने आईएमए एवं निजी

चिकित्सालय के डॉक्टरों के साथ महत्वपूर्ण बैठक ली। इस दौरान उन्होंने डाक्टरो से कहा कि चिकित्सालय में आने वाले कोरोना वायरस के संदिग्ध रोगी की सूचना मुख्य चिकित्साधिकारी को तत्काल देनी होगी। वही इन रोगियों की जांच में किसी तरह की कोई लापरवाही न बरतने के भी निर्देश उन्होंने सभी डॉक्टरों को दिये।

जिले में 134 विदेशी यात्री दौरे पर

इस दौरान डॉ. भारती ने जानकारी दी कि जनपद में अबतक 3 संदिग्ध मामले सामने आये है जिसमें से तीनों की रिपोर्ट नगेटिव है। इसके साथ ही 134 विदेशी नागरिक भी दौरे पर है जिनकी स्क्रीनिंग की जा रही है। 134 विदेशी नागरिकों से 61 नागरिक हैडाखान आश्रम मे है, जिनकी प्रतिदिन मानिटरिंग की जा रही है। उन्होने कहा कि निजी चिकित्सालय अपने स्टॉफ को कोरोना वायरस की जानकारी दें व बचाव केलिए प्रशिक्षित भी किया जाए।

haldwani city news

चिकित्सालय परिसर में साफ सफाई, सेनेटेशन सुनिश्चित की जाए और डिस्पोजल सामग्री के निस्तारण की उचित व्यवस्था की जाए। उन्होंने सभी चिकित्सालयों मे कोरोना वायरस से सम्बन्धित जानकारी पोस्टर चस्पा करने के निर्देश जारी किये है। खासी, बुखार सांस लेने मे तकलीफ गम्भीर रोगियो को अन्य मरीजो से पृथक किया जाए। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस की कोई प्रभावी दवा न होने के कारण इससे बचाव के लिए सावधानी व जानकारी ही एकमात्र उपाय है।

Coronavirus vaccine) वैज्ञानिकों ने ढूँढ निकाला कोरोना का सबसे सस्ता इलाज, 100 रुपए में ऐसे होगा कोरोना की जाँच