PMS Group Venture haldwani

हल्द्वानी-इस गुप्त रोग से महिलाएं रहती है अंजान, डा. पवलीन खुराना अब इस मशीन से करेंगी समाधान

हल्द्वानी-जिस बीमारी को महिला अक्सर नजरअंदाज करती है वहीं उनके लिए आगे चलकर बड़ी समस्या पैदा कर देती है। कई महिलाएं इस बीमारी से अंजान है। इस समस्या का समाधान करने हल्द्वानी में खुला गया है अडोनिया लेजर एण्ड वेलनेस सेंटर, जिसकी निदेशक डा. पवलीन खुराना है। इस समस्या के लिए फेमिलिफ्ट मशीन लगाई है। जो स्त्रियों की योनि संबंधित समस्याओं का समाधान करेंगी। इस बारे में अधिक जानकारी देते हुए अडोनिया लेजर एण्ड वेलनेस सेंटर की निदेशक डा. पवलीन खुराना ने बताया कि यह उत्तराखंड में मात्र एक मशीन है। इससे बिना ऑपरेशन के इलाज संभव है।

DR. Pavleen Khurana

यौन समस्या से अंजान है महिलाएं-डा. पवलीन

डा. खुराना ने बताया कि दो बच्चे होने के बाद अक्सर महिलाओं की योनि ढीली हो जाती है। इससे यौन संबंध बनाते समय बच्चेदानी पर जोर पड़ता है। जिस कारण कई बार बच्चेदानी अपनी जगह से खिसक जाती है। इसी कारण महिलाओं को समस्या का सामना करना पड़ता है। उन्हें खुस्की, बार-बार संक्रमण, पेट में दबाव और पेशाब का निकल जैसे समस्या हो जाती है लेकिन महिलाएं इन्हें नजर अंदाज करती है। अब ऐसी समस्याओं का इलाज हल्द्वानी में संभव है।

DR.. Pavleen Khurana

तीन सिटिंग में होगा इलाज

डा. जेएस खुराना ने बताया कि ऐसे इलाज के लिए तीन सिटिंग होती है। जिसमें करीब 80000 से 90000 रुपये का खर्च आता है। लेकिन अडोनिया लेजर एण्ड वेलनेस सेंटर में यह इलाज मात्र 15000 रुपये से 20000 रुपये तक किया जाता है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा सेंटर में अनचाहें बाल हटाने, मुहांसो के निशान हटाने, खिचांव के कारा आये निशान, फेशियल, एन्टी ऐजिगं ट्रीटमेंट आदि का इलाज पहले से होता आ रहा है।

vagina-lickage

स्त्री-पुरूष में मनमुटाव की बड़ी वजह- सोमेन दत्ता

इस दौरान एल्मा मेडिकल प्रा. लि के एमडी सोमेन दत्ता ने कहा कि महिलाएं इस इलाज के द्वारा अपनी यौनि को शादी से पहले जैसी स्थिति में ला सकते है। इसका किसी तरह का कोई ऑपरेशन नहीं होता। इस फेमिलिफ्ट मशीन के माध्यम से तीन बार की सिकाई से संभव है। जिसे डॉक्टर अपनी विधि द्वारा करते है। कई बार महिलाओं की ये समस्याओं पुरूषों को उनसे दूर कर देती है। ऐसे में पुरूष दूसरी महिलाओं की ओर आर्कषित होने लगते है जो आगे चलकर अपराधों को जन्म देती है। उन्होंने कहा कि अब ऐसी समस्याओं का इलाज हल्द्वानी में संभव है। जिसका लोग लाभ उठा सकते है।

(कोरोना वायरस)उत्तराखंड के पहले ट्रेनी IFS अफसर जिन्होंने मौत को मात दी, देखिये पूरी कहानी